इन टिप्स को अपनाकर आप बन जाएंगी आदर्श बहु

जमाना 19वीं सदी का रहा हो या फिर 21 वीं सदी का एक चीज ऐसी है जिसमें अभी भी बदलाव नही आया है। वह चीज है आदर्श बहु की तलाश। बेशक लड़कियों की आजादी में बदलाव आया है, लेकिन आज भी लोगों को बहु सीधी सादी ही चाहिए। हम आपसे नहीं कर रहें कि आप दिन भर घूंघट ओढ़े और सिर झुकाए घूमें, लेकिन कुछ ऐसे टिप्स हैं जिन्हें अपनाकर आप आदर्श बहु बन सकती हैं। हर माता पिता .ही चाहते हैं कि जब उनकी बेटी शादी करके ससुराल जाए तो उसकी तारीफ हो। आपको बताते हैं कुछ ऐसें ही टिप्स जिससे आप अपनी जिंदगी को आसान बना पाएंगी।

तय कर लें काम

शादी के बाद एक लड़की की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। उसे अब सिर्फ एक ही घर नहीं बल्कि दो दो घर संभालने होते हैं। आपको मायके की आद आती होगी, लेकिन इसका मतलब यब नही है कि ससुराल वालों को आप एकदम भूल जाएं। अपने सास ससुर और पति से इस बारे में चर्चा करें। उनसे पूछे और उन्हें बताएं कि ससुराल की तरफ ध्यान देने के साथ साथ वह अपने मायके का भी ख्याल रखना चाहती हैं। इस तरह आपकी वजह से किसी का दिल भी नहीं दुखेगा और आप खुश भी रह पाएंगी।

घरवालों को करें इनवाइट

अपने घरवालों यानी मायके के नजर में भी आपको यह साबित करना जरुरी है कि आप गृहस्थी का काम अच्छे से संभाल लेती हैं। ऐसे में घर वालों को अपने नए घर बुलाएं।उन्हें अपने हाथ से खाना बनाकर खिलाएं। घर कैसे मेंटेन रखती हैं यह भी दिखाएं। इसी बहाने आपको उनके साथ वक्त गुजारने का मौका मिलेगा।

ना करें चुगली

ससुराल आपके लिए नया है और जाहिर सी बात है कि यहां के तौर तरीके भी आपके लिए नए होंगे, लेकिन इसके लिए मायकों वालों से हर बात पर चुगली ना करें। जब तक कोई बड़ी बात ना हो अपना मैटर खुद साल्व करें। याद करें की स्कूल औऱ कॉलेज के मैटर में आप पैरेंट्स का इंटरफियरेंस बर्दाश्त करती थीं, नहीं ना। यहां भी कुछ ऐसा ही रुख अपनाएं। अपने माता पिता से हर की शिकायत ना करें।

साथ मनाए खुशियां

अगर आपका ससुराल आपके  लिए नया है तो उनकी लिए आप भी नई हैं। अपने कुछ तौर तरीके आप उन्हें भी बता सकती हैं। साथ ही मेल जोल बढ़ाने के लिए पिकनिक या पार्टी की प्लानिंग कर सकती हैं। ससुराल वालों के साथ बाहर जाएं। उनके साथ खुशियां बांटे। ऐसा करने से दुरियां खत्म होंगी और आपके साथ वह भी ज्यादा अच्छे से घूलमिल पाएंगे। उन्हें अपना ही परिवार समझें, तभी वह आपके बन पाएंगे।

बनाए एक हद

ससुराल वालों के लिए तब बड़ी मुश्किल होती है जब उनकी बहु उनसे ज्यादा सिर्फ अपने मायके वालों पर निर्भर रहती है। अपनी एक हद बनाएं। कुछ चीजे सिर्फ ससुराल तक रहने दें। इस घर में भी कुछ समस्या होगी। इस घर की कुछ ऐसी बाते होंगी जो बाहर नहीं फैलनी चाहिए। इस बात का ध्यान रखें। बातों का बतंगड़ ना बनाएं। अगर आप ऐसा कर पाती हैं तो फिर आप आदर्श बहु बनने के लिए तैयार हैं।

यह भी पढ़ें :

विश्वामित्र और मेनका की प्रेम कहानी , जब विश्वामित्र के तप को भंग करने धरती पर आईं मेनका…