ब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

चुनावी सर्वे : जानिए, तेलंगाना में सत्ता में आएगी कांग्रेस या बीजेपी बनेगी किंगमेकर?

आंध्र से अलग होने के बाद तेलंगाना में पहली बार विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, जिसकी वजह से वहां का चुनावी माहौल अन्य राज्यों की तुलना में थोड़ा अलग है। जी हां, अलगाव के बाद तेलंगाना में पहली बार विधानसभा चुनाव को लेकर न सिर्फ तमाम राजनीतिक पार्टियां उत्साहित हैं, बल्कि वहां की जनता भी काफी बढ़ चढ़कर हिस्सा लेती हुई नजर आ रही है। राज्य में मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच नहीं है, बल्कि क्षेत्री पार्टियों के बीच है। इन सबके बीच हम आपको तेलंगाना के चुनावी सर्वे से रूबरू कराने जा रहे हैं। तो चलिए जानते हैं कि तेलंगाना का चुनावी सर्वे क्या कहता है?

कैसा है तेलंगाना का सियासी रूख?

तेलंगाना में विधानसभा की 119 सीटें हैं। फिलहाल, सूबे में तेलंगाना राष्ट्र समिति सत्ता पर काबिज है। याद दिला दें कि तेलंगाना पहले आंध्रप्रदेश का हिस्सा था, लेकिन अब यह अलग हो चुका है। ऐसे में यहां की सियासत का रूख के तेवर तो अलग ही हैं। बता दें कि जहां एक तरफ सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) दूसरे कार्यकाल के लिए जोर लगा रही है, वहीं दूसरी तरफ बीजेपी और कांग्रेस भी सत्ता में आने की पूरी कोशिश कर रही है। साथ ही आपको यह भी बता दें कि तेलंगाना में सात दिसंबर को चुनाव होंगे और वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

तेलंगाना का चुनावी सर्वे

तेलंगाना का चुनावी सर्वे

यहां हम आपको तमाम मीडिया घराने द्वारा कराए गए सर्वे का एक औसत बता रहे हैं, जिसकी मदद से आप सूबे में किसका पलड़ा भारी है या फिर कौन सबसे कमजोर है, इसके बारे में जान सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि तेलंगाना का चुनावी सर्वे क्या कुछ कहता है?

तेलंगाना में किसे कितने वोट ?

कांग्रेस- 33.9%
टीआरएस- 29.4%
बीजेपी- 13.5%
अन्य- 23.2%

तेलंगाना में किसे कितनी सीटें?

तेलंगाना का चुनावी सर्वे

कांग्रेस- 64
टीआरएस- 42
बीजेपी- 04
अन्य- 09

तेलंगाना में सीएम की पहली पसंद कौन ?

के चंद्रशेखर राव- 42.9%
के जना रेड्डी- 22.6%
रेवंथ रेड्डी- 7.2%

तेलंगाना के चुनावी सर्वे पर अगर गौर किया जाए तो कांग्रेस पार्टी बहुमत के साथ सत्ता में आती हुई नजर आ रही है। तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी की हालत बहुत बुरी नजर आ रही है। प्रदेश में कांग्रेस की टक्कर टीआरएस के साथ हो सकती है। हालांकि, यह सिर्फ चुनावी सर्वे ही है, नतीजे क्या होंगे, ये तो चुनावी नतीजें आने के बाद ही पता चलेगा। बहरहाल, कांग्रेस को जीत से रोकने के लिए बीजेपी टीआरएस के साथ गठबंधन करने का ऐलान पहले ही कर चुकी है।

Related Articles

Close