ब्रेकिंग न्यूज़राजनीति

चुनावी सर्वे : जानिए, मिजोरम में होगा कांग्रेस का सूपड़ा साफ या फिर से बीजेपी होगी ऑल आउट

मिजोरम विधानसभा चुनाव को लेकर त्रिकोणीय मुकाबला जारी है। जी हां, सूबे में मुकाबला बीजेपी कांग्रेस के बीच नहीं है बल्कि क्षेत्रीय पार्टियों के बीच भी है। मिजोरम कांग्रेस का गढ़ माना जाता है, ऐसे में यहां कांग्रेस मजबूत है या फिर बीजेपी कांग्रेस मुक्त भारत का सपना पूरा करने में कामयाब हो सकेगी। बीजेपी का मिजोरम में अभी तक खाता नहीं खुला है, जिसकी वजह से वहां खाता खोलने के लिए बेताब है। वोटिंग से ठीक पहले हम आपको मिजोरम के सियासी रूख से रूबरू कराते हैं। तो चलिए जानते हैं कि मिजोरम का चुनावी सर्वे क्या कुछ कहता है?

कैसा है मिजोरम का सियासी मिजाज?

मिजोरम में इन दिनों चुनावी माहौल है। हर पार्टी के नेता अपनी पार्टी के लिए वोट मांगने जा रही है। मिजोरम में कुल 40 विधानसभा की  सीटे हैं, जिस पर वोटिंग 28 नवंबर को होगी। फिलहाल, कांग्रेस यहां 34 सीट पर काबिज है और लगातार दो बार सत्ता में आ चुकी है। वहीं दूसरी तरफ एमएनएफ के पांच और मिजोरम पीपुल्स कॉन्फ्रेंस का एक विधायक है। बीजेपी का अभी इस राज्य में खाता तक नहीं खुला है, ऐसे में देखने वाली बात यह होगी कि क्या बीजेपी या कांग्रेस में से कौन जीतता है या फिर एमएनएफ बाजी मारती है।

मिजोरम का चुनावी सर्वे

मिजोरम का चुनावी सर्वे

यहां हम आपको तमाम मीडिया चैनल द्वारा कराए गए सर्वे का एक औसत बता रहे हैं, जिसके जरिए आप यह अनुमान लगा सकते हैं कि प्रदेश में किस पार्टी की लहर जारी है। तो चलिए जानते हैं कि मिजोरम का चुनावी सर्वे क्या कुछ कहता है?

मिजोरम में किसे कितने वोट ?

कांग्रेस- 29.4%
एमएनएफ- 33.1%
जेडपीएम- 27.4%
अन्य- 10%

मिजोरम में किसे कितनी सीटें?

कांग्रेस- 12
एमएनएफ- 17
जेडपीएम- 09
अन्य- 02

मिजोरम में सीएम की पहली पसंद कौन ?

ललथन हवला- 27.3%
जोरामथंगा- 25.4%
लालदुहोमा- 24.6%

मिजोरम के चुनावी सुर्वे पर ध्यान दिया जाए तो प्रदेश में किसी की सरकार बनती हुई नजर नहीं आ रही है। कोई भी पार्टी बहुमत का आकड़ा छूती नजर नहीं आ रही है। हालांकि, कांग्रेस और बीजेपी अपनी अपनी सरकार बनाने का दावा करती हुई नजर आ रही है। राजनीतिक विशेषज्ञों की माने तो मिजोरम में कर्नाटक के चुनावी नतीजों का इतिहास दोहराया जा सकता है। याद दिला दें कि मिजोरम की 40 विधानसभा सीटों पर वोटिंग 28 नवंबर को होगी।

Related Articles

Close