छत्तीसगढ़ में आज थमेगा चुनाव प्रचार, राहुल-अमित करेंगे तूफानी रैलियां

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार का दिन बेहद खास है। जी हां, पहले चरण के चुनाव के लिए आज प्रचार थम जाएगा, जिसकी वजह से बीजेपी और कांग्रेस ऐड़ी चोटी का बल लगाते हुए प्रचार मैदान में उतरेंगे। छत्तीसगढ़ में आज सिसायत का सुपर ड्रामा देखने को मिलेगा, क्योंकि बीजेपी और कांग्रेस के अध्यक्ष एक के बाद तूफानी रैली करते हुए नजर आएंगे। दोनों की ही नजर छत्तीसगढ़ को फतेह करने पर टिकी हुई है। इसलिए दोनों ही आज जी जान से पहले चरण के लिए प्रचार करते हुए नजर आएंगे। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

छत्तीसगढ़ को चौथी बार जीतने के लिए बीजेपी आज भरपूर कोशिश करती हुई नजर आ रही है। जी हां, छत्तीसगढ़ के पहले चरण के चुनाव के आखिरी दिन बीजेपी की ओर से अमित शाह, सुषमा स्वराज, योगी आदित्यनाथ और बाबुल सुप्रियो रैलियों और जनसभाओं की झड़ी लगा रहे हैं। इस प्रचार में बीजेपी अपनी ताकत झोंकती हुई नजर आ रही है। बीजेपी के लिए छत्तीसगढ़ को बचाना नाक का सवाल बन गया है, क्योंकि जब केंद्र में बीजेपी की सरकार आई है, तब से बीजेपी हर राज्य जीत रही है, ऐसे में अपना गढ़ जीतना उसके अस्तित्व पर सवाल है।

छत्तीसगढ़ में बीजेपी का ये है कार्यक्रम

छत्तीसगढ़ में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह 10 नवंबर को दोपहर में छत्तीसगढ़ के गरियाबंद पहुंचेंगे और वे यहां एक चुनावी सभा को संबोधित करेंगे, जिसके लिए  गांधी मैदान में तैयारियां कर ली गई है। वहीं सुषमा स्वराज राजधानी रायपुर और भिलाई में रैलियां करेंगी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ चार जगहों पर रैलियां करेंगी। इतना ही नहीं,  बीजेपी के मुताबिक राज्य के लोरमी, मुंगेली, दुर्ग और कवर्धा में योगी की रैलियां प्रस्तावित हैं, ऐसे में बीजेपी किसी भी तरह की कोई कमी नहीं छोड़ना चाहती है।

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का ये है कार्यक्रम

बीजेपी से उसका किला छीनने की कोशिश कर रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की भी आज राज्य में तीन रैलियां हैं। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष शुक्रवार को घोषणापत्र के ज़रिए वादों की झड़िया लगा चुके हैं। राहुल गांधी को पूरी उम्मीद है कि वह छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की वापसी ज़रूर कराएंगे। आज दिन भर राहुल गांधी छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की कमान संभालते हुए नजर आएंगे। आपको बता दें कि राहुल गांधी आज कांकेर, कोठगोदाम और जगदलपुर में रैलियां करेंगे, जहां भारी संख्या में भीड़ एकत्रित होने की संभावनाएं जताई जा रही है।