राशिफल

हनुमान जयंती: 31 मार्च के दिन कीजिये ये काम, मिल जाएगा सभी परेशानियों से मुक्ति, जानें कैसे?

हिंदू धर्म में देवी-देवताओं का विशेष स्थान होता है. यूं तो बहुत लोगों के पास मानव जीवन की परेशानियों का हल होता है लेकिन इनमें से कुछ ही ऐसे होते हैं जो सभी परेशानियों से मुक्ति दिलाते हैं. यही कारण है कि समस्या आने पर हम आज भी ईश्वर को याद करते हैं. क्योंकि मुश्किल की घड़ी में जब कुछ नहीं समझ आता तब हमें ईश्वर की शरण में जाना ही पड़ता है. सारे प्रयास असफल होने के बाद ईश्वर पर ही आस्था होती है. हर कोई परेशानी मुक्त जीवन जीना चाहता है. लेकिन सौरमंडल के ग्रहों की हमारी कुंडली में बैठकी ही बताती है कि हमारे जीवन में परेशनियों का आगमन कब और कैसे होगा. अधिकतर लोगों के जीवन में आने वाली परेशानियों का कारण शनि, राहु और केतु जैसे ग्रह होते हैं. इन ग्रहों के प्रकोप से बचने के लिए आप 31 मार्च के दिन ये उपाय कर सकते हैं. 31 मार्च के दिन यदि आप बजरंग बली के दर्शन और पूजा के साथ ही यहां बताए जा रहे मंत्रों का जाप कर लेंगे तो आपकी सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं. बताये गए तरीकों से पूजा-अर्चना कर के आप अपनी हर समस्या से मुक्ति पा सकते हैं.

दरअसल, हिंदी पंचांग के अनुसार शनिवार, 31 मार्च 2018 चैत्र मास की पूर्णिमा है. इस दिन हनुमान जयंती मनाई जाती है. यदि आप हुनमान जी के भक्त हैं और उनकी विशेष कृपा प्राप्त करना चाहते हैं तो इस दिन का मुहूर्त सबसे श्रेष्ठ है. इस दिन हनुमान जी के मंदिरों में काफी भीड़ लगी रहती है.  एस्ट्रोलॉजर पं. दयानंद शास्त्री जी ने हनुमान जी को प्रसन्न करने के कुछ खास मंत्र बताये हैं.

ऐसे करें मंत्र जाप

31 मार्च के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें. स्नान करने के बाद किसी हनुमान मंदिर जाएं और वहां हनुमान जी की पूजा-अर्चना करें. आप मंदिर का कोई शांत स्थान देख लें और वहां बैठकर 108 बार मंत्र का जाप करें. मंत्र जाप करने के लिए आप रुद्राक्ष माला का इस्तेमाल कर सकते हैं. नीचे जानिये हनुमान जी के मंत्र.

पहला मंत्र

मनोजवं मारुततुल्यवेगम् जितेन्द्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठम्।

वातात्मजं वानरयूथमुख्यं श्री रामदूतं शरणं प्रपद्ये।।

इस मंत्र का जाप करके मनुष्य अपनी सारी परेशानियों से मुक्ति पा सकता है.

दूसरा मंत्र

मर्कटेश महोत्साह सर्वशोक विनाशन।

शत्रून संहर मां रक्षा श्रियं दापय मे प्रभो।।

घर में सुख-समृद्धि बढ़ाने के लिए इस मंत्र का जाप करें.

तीसरा मंत्र

हनुमान अंगद रन गाजे।

हांके सुनकृत रजनीचर भाजे।।

कार्यों में आ रही बाधाओं से परेशान हैं और उसे दूर करना चाहते हैं तो इस मंत्र का जाप करें.

चौथा मंत्र

नासे रोग हरे सब पीरा।

जो सुमिरै हनुमत बल बीरा।।

यदि आप इस चौपाई का जाप हर रोज 108 बार करेंगे तो आप रोग मुक्त रहेंगे. यह रोगों से मुक्ति दिलाने में आपकी मदद करेगा.

पांचवा मंत्र

वायुपुत्र नमस्तुभ्यं पुष्पं सौवर्णकं प्रियम्।

पूजयिष्यामि ते मूर्धि नवरत्न-समुज्जलम्।।

इस मंत्र का जाप करते हुए हनुमान जी को फूल अर्पित करें. इससे सौभाग्य प्राप्त होता है.

दोस्तों, तो ये थे 5 मंत्र जिसका 31 मार्च के दिन आपको अपनी समस्या अनुसार 108 बार जाप करना है. हमें उम्मीद है कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close