समाचार

बर्बादी की राह पर खड़ा पाकिस्तान, इमरान की गिरफ्त्तारी के बाद आया बड़ा संकट ! जानें पूरा मामला

हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान दुनियाभर में बड़ी-बड़ी डींगे हाँकता है लेकिन बीते एक साल में उसकी हैसियत दुनिया के सामने आ चुकी है. पाकिस्तान में लोगों के खाने के लाले पड़े हुए है. न दाना मिल रहा है और न पानी. बिजली का संकट भी लगातार गहराता जा रहा है.

पाकिस्तान के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. पड़ोसी देश बर्बादी की राह पर खड़ा हुआ है. देशभर में लोग खाने के लिए कतारों में लग रहे है. खाना न मिलने से कई लोगों की मौत हो गई है. सत्ता दल पर सवाल खड़े हो रहे है तो दूसरी ओर पूर्व पीएम इमरान खान की गिरफ्तरी से सियासी बवाल भी मचा हुआ है.

पाकिस्तान के पास अब खोने को कुछ नहीं है. झूठ और षड्यंत्र से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि को धूमिल करने की कोशिश करने वाला पाकिस्तान आज दुनिया के सामने बेनकाब है. लोगों को खाने को रोटियां नहीं मल रही है. सरकार का खजाना खाली हो गया है. सरकार अपने लोगों का पेट तक भरने में सक्षम नहीं है.

पाकिस्तान पर क़यामत की ऐसी मार पड़ी है कि उसकी कमर टूट चुकी है. इसी बीच उसके लिए एक और बेहद बुरी खबर आई है. वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज (Moody’s) ने भी यह मान लिया है कि पाकिस्तान कंगाली की रह पर खड़ा हुआ है. इस पर पाकिस्तान को चेताते हुए मूडीज ने बड़ी चेतावनी दी है.

डिफॉल्ट होने की राह पर खड़ा है पाकिस्तान !

वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज (Moody’s) ने पाकिस्तान को चेताते हुए मंगलवर को एक रिपोर्ट जारी की है. इसमें कहा गया है कि अगर पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के बेलआउट पैकेज की मदद नहीं मिलती है, तो वो डिफॉल्ट हो सकता है. यानी कि पाकिस्तान कंगाली की रह पर खड़ा हुआ है.

एनालिस्ट ग्रेस लिम ने दी चेतावनी

मूडीज से जुड़े एनालिस्ट ग्रेस लिम ने हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान को चेताते हुए कहा है कि, ”पाकिस्तान जून तक अपने बाहरी भुगतानों को पूरा करेगा, हालांकि ऐसा नहीं होने पर आईएमएफ की मदद के बिना पाकिस्तान डिफॉल्ट कर सकता है”.

बस एक माह का बचा है पाकिस्तान का मुद्रा भंडार

पाकिस्तान की शहबाज सरकार के पास सिर्फ विदेशी मुद्रा भंडार 4.5 अरब डॉलर बचा है. यह रकम महज एक माह तक के लिए काफी है. इसके बाद स्थिति और बिगड़ने के आसार है. लेकिन पाकिस्तान लगातार आईएमएफ समेत अपने दोस्तों से पैसे की भीख मांग रहा है. अगर उसे पैसे मिल जाते है तो वो इस बड़े आर्थिक संकट से उबर सकेगा.

इमरान खान की गिरफ्तारी से देशभर में सियासी बवाल

एक ओर पाकिस्तान में आर्थिक संकट लगातार गहराता जा रहा है. खाने के लिए लोगों को सड़कों पर उतरकर कतारों में लगना पड़ रहा है तो वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान में सियासी बवाल भी मचा हुआ है. हाल ही में पाकिस्तन के पूर्व पीएम इमरान खान को गिरफ्तार कर लिया गया है. उनके समर्थन में देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहे है. इसने पाक सरकार की मुश्किलें और बढ़ा दी है. शहबाज सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. इसी बीच मूडीज की रिपोर्ट ने पाकिस्तान को बैकफुट पर धकेल दिया है.

Back to top button