विशेष

Blind T20 World Cup : भारत ने जीता विश्वकप, 277 रन ठोंके, बांग्लादेश को 120 रनों से दी पटखनी

भारतीय क्रिकेट टीम इन दिनों बांग्लादेश में है। पहले भारत ने बांग्लादेश में बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली जिसमें उसे 1-2 से हार का सामना करना पड़ा। वहीं अब दोनों टीमें दो टेस्ट मैचों की सीरीज में आमने-सामने है।भारत और बंगलादेश के बीच पहला टेस्ट मैच चट्टोग्राम में खेला जा रहा है। वहीं दूसरी ओर भारत और बांग्लादेश की नेत्रहीन क्रिकेट टीमों के बीच टी-20 विश्वकप का फाइनल मैच खेला गया जिसमें भारतीय टीम ने बांग्लादेश को पटखनी दे दी।

भारत ने एक बार फिर से नेत्रहीन टी-20 वर्ल्ड कप ट्रॉफी पर अपना नाम लिखवा लिया है। यह तीसरा मौका है जब भारत ने नेत्रहीन टी-20 विश्वकप जीता है। इससे पहले भारत दो बार यह कारनामा कर चुका है। एक बार फिर से भारत की नेत्रहीन क्रिकेट टीम ने इतिहास रच दिया। उसने बांग्लादेश को धूल चटा दी।

बता दें कि नेत्रहीन टी-20 विश्वकप 2022 का फाइनल मुकाबला बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया था। अपनी ही धरती पर भारतीय टीम ने 120 रन की बड़ी जीत दर्ज करके बांग्लादेश को करारी शिकस्त दी है। भारत ने 20 ओवर के खेल में धुंआधार बल्लेबाजी की। फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करने उतरी।

blind t20 world cup

भारतीय टीम ने विश्वकप के आख़िरी मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करते हुए बोर्ड पर 277 रन लगा दिए। इसके बाद भारतीय गेंदबाजों से बेहतरीन गेंदबाजी देखने को मिली। भारत ने निर्धारित 20 ओवर में सिर्फ 2 विकेट खोए और 277 रन का स्कोर खड़ा कर दिया। वहीं बांग्लादेश 200 का भी आंकड़ा नहीं छू पाई। बांग्लादेश की टीम ने पूरे 20 ओवरों में 3 विकेट खोकर सिर्फ 157 ही रन बनाए और वो विश्वकप हार गई।

दो भारतीय बल्लेबाजों ने जड़े शतक

blind t20 world cup


भारतीय टीम के 277 रनों के योगदान में उसके दो बल्लेबाजों ने शानदार शतक जड़े। भारत के शतकवीर बल्लेबाजों में सुनील रमेश और अजय रेड्डी शामिल रहे। सुनील रमेश ने 63 बॉल में 136 रनों की धमाकेदार पारी खेली। वहीं अजय रेड्डी का बल्ला भी खूब गरजा। अजय रेड्डी ने 50 गेंदों में 200 की स्ट्राइक रेट से 100 रनों की पारी खेली। भारत के सिर्फ दो विकेट गिरे। वी राव ने महज 12 गेंदों में 10 रन बनाए। जबकि एल मीणा तीन गेंदें खेलकर खाता भी नहीं खोल सके।

2012 और 2017 में भी विजेता रह चुका है भारत


भारत ने यह टी-20 विश्वकप जीतकर जीत की हैट्रिक लगा दी है। भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट टीम इससे पहले दो बार और टी-20 विश्वकप पर कब्जा जमा चुकी है। भारत ने पहली बार नेत्रहीन टी-20 विश्वकप का खिताब 2012 में जीता था। इसके बाद यह कारनामा उसने साल 2017 में दोहराया। जबकि अब एक बार फिर से भारत का जलवा देखने को मिला।

2024 में होगा अगला नेत्रहीन टी-20 विश्वकप, पाकिस्तान करेगा होस्ट

जहां इस साल का नेत्रहीन टी-20 विश्वकप भारत ने आयोजित किया तो वहीं अगला नेत्रहीन टी-20 विश्वकप हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान में खेला जाएगा। आपको जानकारी के लिए बता दें कि अगला विश्वकप साल 2024 में खेला जाना है।

Back to top button