समाचार

2 दोस्तों को हो गया एक-दूसरे की बीवियों से प्यार, कर ली अदला-बदली लेकिन बहुत बुरा हुआ अंजाम

दोस्ती इस दुनिया की नायाब चीज है। दोस्त आपका वो साथी होता है जिससे आप अपने मन की बात कह सकते हैं। वो आपके सुख दुख में काम आता है। जरूरत पड़ने पर वो आपके साथ खड़ा रहता है। उससे आप अपनी हर चीज शेयर कर सकते हैं लेकिन क्या कोई दोस्त अपनी बीवियों को भी शेयर कर सकते हैं।

आपको ये बात सुनकर हैरानी जरूर हो रही होगी लेकिन ये घटना सच में हो गई। मध्य प्रदेश में एक ऐसा ही हैरान करने वाला केस सामने आया है जहां दो पक्के दोस्तों ने अपनी बीवियों की ही अदला-बदली कर ली। दोनों को एक दूसरे की बीवी पसंद आ गई थी। हालांकि इसके बाद अंजाम बेहद बुरा हुआ।

राजगढ़ से आया अजीबोगरीब केस

बीवियों की अदला बदली का ये मामला राजगढ़ से सामने आया है। यहां के ब्यावरा कला गांव में दो पक्के दोस्त रहा करते थे। दोनों के नाम मांगीलाल और हेमराज थे। पड़ोस में ही रहने के कारण हेमराज अक्सर मांगीराम के घर आया करता था। इसी दौरान उसकी पत्नी कृष्णा बाई से भी उसकी मुलाकात और बातचीत हुआ करती थी।

मांगीलाल और कृष्णा बाई की शादी साल 2011 में हुई थी। दोस्त हेमराज और कृष्णा बाई के अक्सर बात करने और मिलने की वजह से आकर्षण हो गया और दोनों का अफेयर शुरू हो गया। साल 2014 में जब दोस्त और बीवी के अफेयर की बात मांगीलाल को पता लगी तो वो दोस्ती में अपनी बीवी उसे सौंपने को राजी हो गया।

झगड़ा प्रथा के रूप में लिए पैसे

मांगीलाल अपने दोस्त हेमराज की शादी अपनी पत्नी कृष्णा से करवाने के लिए राजी तो हो गया लेकिन उसने गांव की प्रचलित झगड़ा प्रथा के हिसाब से डेढ़ लाख रुपये की मांग कर दी। हेमराज ने ये पैसे उसे दे दिए और दोनों ने शादी कर ली। मांगीलाल भी अपनी पत्नी को छोड़कर और पैसे लेकर अलग हो गया। हेमराज अपनी पहली पत्नी को छोड़कर कृष्णा के साथ रहने लगा।

हेमराज की बीवी से मांगीलाल ने कर ली शादी

दो साल बाद वर्ष 2016 में इस मामले में नया मोड़ तब आया जब हेमराज को अपनी पहली पत्नी के अफेयर की बात पता लगी। उसे पता लगा कि उसकी बीवी का अफेयर उसी के दोस्त मांगीलाल से चल रहा है। दोनों ने एक मंदिर में जाकर शादी भी कर ली है और दोनों साथ ही गांव में रहते हैं।

जानकारी होते ही हेमराज भी मांगीलाल के पास पहुंच गया और झगड़ा प्रथा के हिसाब से अपनी पहली पत्नी उसको सौंपने को राजी हो गया। इसके लिए उसने तीन लाख रुपये मांगे। हाल ही में मांगीलाल ने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी।

पुलिस की जांच में उसकी पत्नी ने बताया कि हेमराज साल 2016 से ही उस पर 3 लाख रुपये का दबाव बना रहा था। 1.5 लाख तो मांगीलाल दे भी चुका था लेकिन बाकी पैसों के लिए हेमराज उसको मारता-पीटता था। इसी से तंग आकर उसने जान दे दी। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

जानें क्या है गांव की झगड़ा प्रथा

झगड़ा प्रथा मध्य प्रदेश के राजगढ़ में फैली एक कुप्रथा है। इसके अनुसार अगर किसी मर्द की पत्नी उसे छोड़ देती है और किसी दूसरे मर्द से शादी कर लेती है तो वो अपना झगड़ा मांगता है। फिर गांव में पंचायत के बीच झगड़े की रकम तय होती है जिसे महिला के दूसरे पति को देना होता है। अगर वो रकम नहीं देता है तो पहला पति उसके घर जाकर मारपीट कर सकता है।

Back to top button