बॉलीवुड

चुनावी रैली करने जा रही थी सूर्यवंशम की हेरोइन, प्लेन क्रेश में गई खुद की और बच्चे की जान

सोनी मैक्स और अमिताभ बच्चन(Amitabh Bachchan) का नाम एक साथ सुनकर हमें सिर्फ फिल्म ‘सूर्यवंशम’(Sooryavansham) का नाम ही याद आता है. सूर्यवंशम’ को सोनी मैक्स पर इतनी बार प्रसारित किया जा चुका है कि लोगों को इसके केरेक्टर और डायलॉग तक याद हो चुके है. ‘सूर्यवंशम’ का नाम जब भी सामने आता है तो अमिताभ बच्चन(Amitabh Bachchan) के साथ-साथ अभिनेत्री सौंदर्या(Soundarya) का चेहरा भी सामने आता है. सौंदर्या(Soundarya) साउथ को सबसे सफल एक्ट्रेस में से एक थी.

सौंदर्या ने अपने छोटे से करियर में करीब 114 फिल्मों में अपन अभिनय दिखाया था. सौंदर्या ने इंडस्ट्री के सभी सुपरस्टार्स के साथ काम किया था. इतना ही नहीं वह अपने समय की सबसे ज्यादा फीस लेने वाली अभिनेत्री बनी थी. बेहद कम वक्त में सौंदर्या उन आसमान की उचाईयों पर पहुंच गई थी. जहां हर कोई नहीं पहुंच पाता है. लेकिन ये अभिनेत्री कभी अभिनेत्री बनना ही नहीं चाहती थी. सौंदर्या तो डॉक्टरी की पढ़ाई पूरी कर डॉक्टर बनना चाहती थीं.

सौंदर्या के पिता के. एस. सत्यानारायण कन्नड़ फिल्मों के जाने-माने एक्शन राइटर और प्रोड्यूसर थे. उनके घर माँ माहौल फ़िल्मी रहता था. सौंदर्या डॉक्टरी की पढ़ाई में ही व्यस्त रहती थी. इसी दौरान उनके पिता के एक दोस्त ने उन्हें एक फिल्म के लिए ऑफर दे दिया. सौंदर्या ने सिर्फ एक ट्राय के रूप में उन्हें फिल्म करने के लिए हां कर दिया था. यहीं से सौंदर्या के फिल्मी करियर का डेब्यू हुआ था. इस फिल्म की सफलता का असर ये हुआ कि सौंदर्या अपनी डॉक्टरी को तो भूल गई और उनके लिए एक्टिंग ही सबकुछ बन गया.

गौरतलब है कि सौन्दर्या एकलौती ऐसी हिरोइन थी जिन्होंने तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम और हिंदी सिनेमा के बड़े बड़े सुपरस्टार्स के साथ काम किया था. उन्होंने बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन के साथ-साथ साउथ के थलाइवा रजनीकांत के साथ भी काम किया था. तेलुगु सुपरस्टार नागार्जुन के साथ हेल्लो ब्रदर, वेंकटेशन के साथ उन्होने पवित्र बंधन, वहीं मलयालम सुपरस्टार मोहन लाल के साथ किलिचुंडन मंपाझाम जैसी फिल्मों में काम किया था. सूर्यवंशम को छोड़ दिया जाए तो उनकी अमूमन हर फिल्म ही सुपरहिट साबित हुई थी.

सौंदर्या ने वर्ष 2004 में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता स्वीकार की थी. 17 अप्रैल 2004 को सौंदर्या आंध्र प्रदेश की करीमनगर लोकसभा सीट पर प्रचार करने के लिए जाने वाली थी. वह बेंगलुरू में थीं. वह चॉपर से करीमनगर जाने वाली थी. चॉपर में पायलट और सौंदर्या के साथ तीन लोग भी मोजूद थे. 100 फीट की ऊंचाई पर जाते ही वह चॉपर क्रेश हो गया था. वह उस समय प्रेग्नेंट थी.

Back to top button