बॉलीवुड

जान की परवाह किए बिना संजय दत्त के पापा ने लगा दी थी आग में छलांग, जानिए क्या थी वजह

हिंदी सिनेमा के दिग्गज़ अभिनेता सुनील दत्त और अभिनेत्री नरगिस के प्यार के चर्चे अक्सर होते रहते हैं. दोनों कलाकारों का नाम फिल्म इंडस्ट्री में बड़े सम्मान के साथ लिया जाता है. एक समय ऐसा था, जब सुनील दत्त एक्ट्रेस नरगिस के प्यार में पूरी तरह से गिरफ़्तार हो चुके थे, हालांकि नरगिस इस बात से बेख़बर थी और नरगिस को सुनील में कोई दिलचस्पी भी नहीं थी.

यह वो दौर था जब नरगिस दिग्गज़ अभिनेता रहे राज कपूर के प्यार में कैद थी, हालांकि बाद में एक घटना ऐसी घटी जिससे कि फिर नरगिस हमेशा-हमेशा के लिए सुनील दत्त की ही हो गई. इस घटना ने फ़िल्मी गलियारों में ख़ूब हड़कंप मचाया था और इस घटना से ही सुनील दत्त को अपना सच्चा प्यार नसीब हुआ था.

दरअसल, बात यह है कि, फ़िल्मी दुनिया से जुड़ी आए दिन कोई न कोई घटना हम सुनते ही रहते हैं. लेकिन करीब 64 साल पहले हुई घटना आज भी लोगों के रोंगटे खड़े कर देती है. फिल्मों से हटकर ऐसी ही कुछ घटनाएं असल जिंदगी में भी होती हैं. ऐसी ही एक घटना सुनील दत्त और नरगिस के साथ भी घटी थी. सुनील दत्त ने बिना अपनी जान की परवाह किए नरगिस को बचने के लिए आग में छलांग लगा दी थी. आइए आज आपको विस्तार से इसके बारे में बताते हैं…

फिल्मों में आने से पहले सुनील दत्त सीलोन रेडियो में बतौर रेडियो जॉकी काम करते थे. एक दिन सुनील दत्त नरगिस से मिले. नरगिस इस समय तक बॉलीवुड में अपना अच्छा-ख़ासा नाम बना चुकी थी. सुनील नरगिस का साक्षात्कार लेने वाले थे, हालांकि घबराहट के कारण यह संभव नहीं हो सका. सुनील घबराहट में नरगिस से कुछ पूछ ही नहीं पाए.

नरगिस और सुनील दूसरी बार फिल्म ‘दो बीघा जमीन’ के सेट पर मिले. सुनील और नरगिस ने साथ में काम भी किया. लेकिन एक फिल्म में सुनील को नरगिस के बेटे का रोल दिया गया था और यह फिल्म थी साल 1957 में आई हिंदी सिनेमा की दमदार फिल्मों में से एक ‘मदर इंडिया’. फिल्म को अपार सफलता मिली और दूसरी ओर सुनील एवं नरगिस की प्रेम कहानी भी शुरू हो गई थी.

फिल्म मदर इंडिया के सेट पर एक दिन अचानक से आग लग गई. आग की लपटों के बीच नरगिस बुरी तरह घिर चुकी थी. किसी ने भी इतनी हिम्मत नहीं दिखाई कि कोई नरगिस को बचा सके. ऐसे में सुनील दत्त ने खुद की जान की परवाह किए बिना आग में छलांग लगा दी और वे सुरक्षित आग की लपटों से नरगिस को बचा लाए थे.

नरगिस को तो इस घटना में कुछ नहीं हुआ, लेकिन सुनील बुरी तरह आग में झुलस चुके थे. उन्हें कई दिनों तक बुखार रहा था और सुनील ने कई दिन अस्पताल में बिताए थे. इस दौरान नरगिस भी उनका ध्यान रखने के लिए अस्पताल में ही मौजूद थी.

अपने प्रति सुनील का इस तरह का समर्पण देखकर अब नरगिस भी सुनील दत्त के प्यार में पड़ चुकी थी और शादीशुदा राज कपूर से रिश्ता तोड़कर नरगिस ने सुनील दत्त को अपने सपनों का हमसफ़र चुन लिया. बाद में सुनील और नरगिस ने साल 1958 में शादी कर ली थी.

साल 1958 में नरगिस और सुनील ने चोरी-छिपे शादी की थी. इसके बाद साल 1959 में दोनों ने अपनी शादी के बारे में औपचारिक तौर पर लोगों को बताया और एक रिसेप्शन भी दिया. जिसमे कई फ़िल्मी हस्तियां शामिल हुई. नरगिस और सुनील दत्त तीन बच्चों संजय दत्त, नम्रता दत्त और प्रिया दत्त के माता-पिता बने.

58 साल की उम्र में 3 मई 1981 को दिग्गज़ अभिनेत्री नरगिस ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था. पैन्क्रीऐटिक कैंसर के कारण वे दुनिया छोड़ गई. वहीं अभिनेता सुनील दत्त का 25 मई 2005 को मुंबई में निधन हो गया था.

 

Back to top button