ब्रेकिंग न्यूज़

टिकट बुकिंग को लेकर रेलवे ने बदला नियम, सफर का प्लान बनाने से पहले आप भी जान लें

देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान भारतीय रेलवे द्वारा चलाई जा रही 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों के नियमों में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं। रेलवे ने अपने नियमों में बदलाव करते हुए कहा है कि अब ट्रेनों की बुकिंग पीआरएस काउंटर, टिकट एजेंट के जरिए भी की जा सकती है। गौरतलब हो कि पहले रेलवे के नियमनानुसार इन स्पेशल ट्रेनों की बुकिंग सिर्फ ऑनलाइन ही किया जा सकता था, लेकिन रेलवे ने अब अपने नियमों में बदलाव करते हुए कहा है कि, अब यात्री अपने यात्रा से 30 दिन पहले तक टिकट बुक करा सकते हैं, जबकि इसके पहले यात्रा से सिर्फ 7 दिनों पहले तक ही बुकिंग हो सकती थी।

अब रिजर्वेशन का दूसरा चार्ट 2 घंटे पहले बनेगा

इन नियमों में बदलाव के साथ रेलवे के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर (I&P) राजेश दत्‍त बाजपेयी ने कहा है कि अब रिजर्वेशन का पहला चार्ट 4 घंटे पहले और दूसरा चार्ट 2 घंटे पहले जारी किया जाएगा, जबकि इसके पहले के नियमानुसार, दूसरा चार्ट सिर्फ 30 मिनट पहले ही बनता था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये सभी बदले हुए नियम 24 मई से लागू होंगे, जिसपर 31 मई से यात्रा शुरू की जा सकती है।

आरएसी टिकटों में यात्री कर सकेंगे यात्रा

स्पेशल ट्रेनों के मामले में रेलवे ने अपने नियमों में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। रेलवे ने बताया है कि इन स्पेशल ट्रेनों में अब आरएसी टिकट में यात्रा कर सकेंगे, जबकि पहले आरएसी टिकटों का कोई विकल्प नहीं रखा गया था। हालांकि रेलवे ने ये स्पष्ट किया है कि अभी इन ट्रेनों में तत्काल टिकट बुकिंग नहीं की जा सकेगी। वेटलिस्ट के मामले में रेलवे ने बताया कि, वेटलिस्ट जारी की जाएगी, लेकिन यदि टिकट कन्फर्म नहीं होते हैं, तो वेटिंग टिकट से यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी।

एजेंट कर सकेंगे टिकटों की बुकिंग

स्पेशल ट्रेनों के टिकटों की बुकिंग अब कम्प्यूटर आधारित पीआरएस केंद्रों, डाकघरों, यात्री टिकट सुविधा केंद्रों के अलावा आईआरसीटीसी के मान्यता प्राप्त एजेंटों और सामान्य सेवा केंद्रों से भी टिकट बुक कराए जा सकते हैं। भारतीय रेल ने कहा है कि स्पेशल ट्रेनों में सीटें आरक्षित कराने की अवधि सात दिनों से बढ़ाकर 30 दिन कर दी गई है। मालूम हो कि इन सभी 15 जोड़ी ट्रेनों में सिर्फ एसी (वातानुकुलित) बोगी हैं।

देश में चल रही हैं 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें

बता दें कि भारतीय रेलवे ने प्रवासी मजदूरों और विभिन्न राज्यों में फंसे लोगों को ध्यान में रखते हुए पहले श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है। इसके बाद देश भर में राजधानी की 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलाईं गईं। जानकारी के लिए बता दें कि ये सभी ट्रेनें नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरू, चेन्नई, तिरूवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद, जम्मू तवी के लिए जोड़ियों में ये ट्रेनें चल रही हैं। गौरतलब हो कि स्पेशल राजधानी एक्सप्रेस की ट्रेनें सिर्फ 22 मई तक के लिए थीं, लेकिन अब इनकी समयावधि बढ़ा दी गई है और ये आगे भी चलती रहेंगी।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close