घर के मंदिर में होंगी ये चीजें तो कभी नहीं होगी धन की कमी, रहेगी मां लक्ष्मी की कृपा

न्यूज़ट्रेंड वेब डेस्क: सनातम धर्म में पूजा-पाठ का विशेष महत्व होता है। ईश्वर की पूजा करने के लिए सही विधि और सही समय के साथ उनके स्थान उनकी पूजा में प्रयोग की जाने वाली वस्तुओं से लेकर हर छोटी-बड़ी बात का ध्यान रखना पड़ता है। यहां तक की भगवान को घर में स्थान देने के लिए और स्थापित करने के लिए भी सही समय और दिशा का विशेष महत्व होता है।

बता दें कि भगवान के मंदिर की स्थापना हमेशा इशान कोण में होनी चाहिए, इसी के साथ मंदिर में दो या तीन मूर्तियां ही होनी चाहिये क्योंकि ज्यादा मूर्तियां न होनी चाहिये ये शुभ नही होता है। मंदिर के आस-पास का स्थान हमेशा स्वच्छ और साफ-सुथरा होना चाहिए। इसी के साथ कुछ और भी चीजें होती हैं जो भगवान के मंदिर के लिए आवश्यक होती हैं औऱ वो हैं उनकी पूजा में प्रयोग किए जाने वाला प्रसाद और बर्तन। तो चलिए आपको बताते हैं कि वो कौन सी चीजें हैं जो हमेशा आपके मंदिर में होनी चाहिए, जिससे भगवान की कृपा सदैव आप पर बनी रहेगी।

तांबे का लोटा

तांबे को एक शुद्ध धातु माना गया है ऐसे में यदि आप भगवान को आचमन कराने के लिए तांबे के लोटे को आवश्यक माना गया है। घर के मंदिर में हमेशा तांबे के लोटे में पानी और उसमें तुलसी की पत्तियां जरूर पड़ी रहनी चाहिए। क्योंकि तुलसी के पत्ते को भी बहुत शुभ माना जाता है। भगवान को आचमन कराने के बाद उस जल को प्रसाद के तौर पर लोगों को दिया जाता है। इससे हमारे मन को शांति मिलती है और यह हमारे अंदर की सोच को निर्मल बनाता है।

पंचामृत

भगवान की पूजा में प्रसाद के तौर पर बनाया जाता है पंचामृत,  इसमें पांच तरह की चीजों जैसे मेवा, दुध, दही, शक्कर, घी, शहद आदि प्रकार की सामग्री मिलाकरै तैयार किया जाता है। फिर भगवान को इसका भोग लगता है।   इसको ग्रहण करने से यह हमारे शरीर को पौष्टिक आहार मिलता है।

चंदन की लकड़ी

चंदन की लकड़ी को हमेशा शुभ माना जाता हैं। इसका सारा कार्य शुभ कार्यों को करने में किया जाता है। बच्चे के जन्म से लेकर इंसान के मरने तक इस लकड़ी का इस्तेमाल किया जाता है। बता दें कि चंदन की लकड़ी को घिसकर उसका तिलक लगाना बहुत लाभकारी होता है। क्योंकि चंदन में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो अंदर की सारी बुराइयों को खत्म करती है और हमारे मन को शांत करती है।