स्वास्थ्य

बवासीर की अचूक दवा: अब बिना ऑपरेशन के पाएं पाइल्स से छुटकारा

बवासीर की अचूक दवा: इन दिनों मनुष्य के बिगड़े खान पान की आदतों के चलते बवासीर की समस्या आम हो गयी है. बवासीर को अंग्रेजी में पाइल्स के नाम से जाना जाता है. यह दो तरह की होती है – आंतरिक बवासीर और बाहरी बवासीर. बाहरी बवासीर में मरीज़ के गुदा के आस पास मस्से हो जाते हैं. इसमें मस्सों में दर्द नही होता लेकिन खुजली अधिक होती है. वहीँ आंतरिक बवासीर में दर्द असहनीय होता है जिसके कारण कईं बार मॉल त्यागने के समय खून निकलता है. इसको खुनी बवासीर भी खा जाता है. बवासीर का समय पर इलाज होना बेहद जरूरी है. आज हम आपको इस लेख में बवासीर की अचूक दवा एवं घरेलू नुस्खे बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपना कर आप इस बवासीर से राहत पा सकते हैं.

बवासीर की अचूक दवा- बवासीर के लक्ष्ण

कुछ डॉ. बवासीर का कारण मोटापे को बताते हैं. या फिर लगातार एक ही स्तिथि में बैठे रहने से भी बवासीर की समस्या हमे घेर सकती है. ऐसे में यदि समय रहते इसके लक्षणों को सझ लिया जाए तो उचित इलाज किया जा सकता है. तो चलिए जानते हैं बवासीर के मुख्य लक्ष्ण आखिर क्या हैं-

  • बवासीर के दौरान मरीज़ के गुदाद्वार से खून निकलता है. यह खून धार या बूंदों के रूप में लगातार निकल सकता है.
  • कईं बार शौच के समय मरीज़ के गुदाद्वार में हलकी पीढ़ा होती है.
  • गुदाद्वार के आस पास खुजली होना भी बवासीर का एक लक्ष्ण हो सकता है.
  • गुदाद्वार में मस्से अर्थात म्यूक्स निकलने लगते हैं.
  • मल त्यागने के समय तकलीफ होना भी पाइल्स का लक्ष्ण है.
  • बार बार कब्ज़ बने रेहना बवासीर की शुरुआत हो सकती है.

बवासीर की अचूक दवा- हल्दी

हल्दी एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका इस्तेमाल रसोई घर में मसालों के रूप में किया जाता है. हल्दी में कईं तरह के एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं जो जख्मों को ठीक करते हैं. ऐसे में यदि आप बवासीर से पीड़ित हैं तो हल्दी आपके लिए रामबाण साबित हो सकती है. इसके लिए आप एक चम्मच देसी घी में आधा चम्मच हल्दी मिला लें और मस्सों पर मलहम की तरह लगा लें. आप इसमें घी की जगह एलोवेरा जेल का इस्तेमाल भी कर सकते हैं.

बवासीर की अचूक दवा- केला

केले में कईं तरह के पौषक तत्व मौजूद होते हैं जो कब्ज़ और बवासीर के लिए उपयोगी साबित होते हैं. इसके लिए आप एक पका हुआ केला लें और उसको बीच से काट लें. अब इस पर थोड़ी मात्रा में कत्था छिडकें अर रात भर इसे खुले आसमान के नीचे पड़ा रहने दें. अगली सुबह इस केले को खाने के 5 से 7 दिन तक आपको बवासीर से राहत मिलेगी.

बवासीर की अचूक दवा- लहसुन

लहसुन पेट के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है. यह भोजन पचाने में सहायक है और पेट के रोगों से राहत दिलाता है. इसके इलावा यदि आपको पाइल्स की समस्या है तो आप रात में सोने से पहले लहसुन की एक कली को चील कर गुदा के रास्ते से अंदर डाले. हालाँकि यह उपाय शुरू में आपको थोडा दर्द दे सकता है लेकिन इससे आपको जल्दी ही राहत मिलेगी.

Related Articles

Close