क्या भारत ने फिर किया सर्जिकल स्ट्राइक?, राजनाथ सिंह बोले “बॉर्डर पर जवानों ने भरपूर जवाब दिया”

आज से ठीक दो साल पहले यानी 28-29 सितंबर 2016 को पाकिस्तान की सीमा रेखा के अंदर घुसकर भारतीय सेना के जवानों ने पाकिस्तान के धरती पर पोषित आतंकवादियों को सबक सिखाने वाला सबसे बड़ा ऑपरेशन किया गया था। करीब 50 आतंकवादियों को मौत के घाट उतार कर उनके ठिकानों को भी तहस नहस किया गया था। ये सर्जिकल स्ट्राइक था।

भारतीय सेना के इस कार्य को केंद्र की मोदी सरकार सबसे बड़ी कामयाबी के रूप में पेश करती है। सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरा होने के उपलक्ष्य पर पीएम मोदी ने जोधपुर में एक कार्यक्रम का उद्घाटन किया तो इस मौके पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सीमा पार से होने वाले हमलों का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए हमारे बीएसएफ जवान आजाद हैं।

क्या कहा गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने-

राजनाथ सिंह ने कहा कि दो साल पहले हुए सर्जिकल स्ट्राइक के बावजूद पाकिस्तान अपने हरकतों से बाज नहीं आ रहा है और हम उसे बिल्कुल सही ढंग से जवाब दे रहे हैं। उन्होंने हाल ही में हुए एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे बीएसएफ जवानों के साथ बदतमीजी हुई थी, तो हमारे तरफ से भी ठीक ठाक जवाब दिया गया है। गृहमंत्री ने कहा कि, मैंने बीएसएफ के जवानों से कहा है कि पड़ोसी हैं अपनी तरफ से पहली गोली मत चलाना, लेकिन उधर से एक गोली चले तो फिर अपनी गोली मत गिनना।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर मेंं बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत अब कमजोर देश नहीं रह गया है बल्कि भारत एक ताकतवर देश के रूप में उभरा है। हमारे प्रधानमंत्री दृढ़ इच्छाशक्ति वाले हैं। राजनाथ ने सर्जिकल स्ट्राइक का क्रेडिट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया।

चीन पर क्या बोले गृहमंत्री- भारत चीन बॉर्डर में तनाव को लेकर भी गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मेरी बात बीएसएफ के जवानों से हुई है। जवानों ने मुझे बताया है कि उधर से कुछ लोग आते हैं और फेस-अप होता है। उसके बाद बिना हथियार के सिर्फ धक्का मुक्की होती है और वो चले जाते हैं।

राजनाथ सिंह ने इसे भारत की जीत का प्रतीक बताया। उन्होंने कहा कि कभी चीन भारत पर हमले किया करता था। लेकिन आज सिर्फ धक्का मुक्की होती है और वो सिर्फ थैंक यू बोलकर चले जाते हैं। इससे पता चलता है कि भारत एक ताकतवर मुल्क बन चुका है।

राजनाथ के बाद बीएसएफ डीजी बोले- पाकिस्तान के खिलाफ हुए सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरा होने के बाद भारतीय सेना ने अपने एक सैनिका के शहादत का बदला लिया है। बीएसएफ महानिदेशक के के शर्मा ने कहा कि हमने अपने जवान के शहादत का बदला ले लिया है। हमारे पास उचित समय और अपनी पसंद के आधार पर जवाबी कार्रवाई करने का अधिकार है।

बता दें कि गत 18 सितंबर को हेड कांस्टेबल नरेंद्र सिंह की शहादत हो गई थी। जो पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम के हमले में शहीद हो गए थे। इस पर अब बीएसएफ ने जवाबी कार्रवाई की है।