क्राइम पेट्रोल देखकर आठ साल की लड़की ने किया खौफनाक काम, अपराधी बन गया पड़ोसी

टीवी पर दिखाए जाने वाले शो बच्चों के मन-मस्तिष्क पर कैसा प्रभाव डालते हैं इसका खौफनाक अंजाम यूपी में देखने को मिला है, जहां खेल-खेल में आठ साल की एक बच्ची फांसी पर झूल गई । जी हां, यूपी के हापुड़ में क्राइम सीरियल देखते हुए तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली सिमरन ने अपने दोस्तों के सामने ही फांसी लगाकर सुसाइड कर ली।हालांकि पहले इस बच्ची की हत्या का शक उसके पड़ोसी पर गया पर बाद में घटनास्थल पर मौजूद कुछ बच्चों ने इस वारदात का सच बताया ।

ये है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के करीम क्षेत्र में मंगलवार को उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक 8 साल की बच्ची का शव उसके पड़ोसी के घर में पड़ा मिला। ऐसे में बच्ची के परिजनों ने जब इस घटना की शिकायत थाने में की तो पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए पड़ोसी युवक को गिरफ्तार कर लिया है, पर वहीं बुधवार को इस मामले  में एक नया मोड़ आया और पता चला कि ये कोई अपराधिक घटना नहीं बल्कि क्राइम सीरियल देख बच्चो के खेल-खेल में हुई वारदात है।दरअसल मौके पर पहुंची पुलिस को पहले ये मामला हत्या का लगा और इसलिए पुलिस ने उक्त पड़ोसी को हिरासत में ले लिया और मृत बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया । पर वहीं जांच के दौरान पुलिस ने वहां मौजूद बच्चों से पूछताछ की गई तो बच्ची के मौत की और ही वजह पता चली ।

फांसी-फांसी खेलते चुन्नी से लटक गई

घटनास्थल पर मौजूद सिमरन के दोस्तो ने बताया कि वो उनके साथ ही पड़ोस के घर में टीवी पर क्राइम शो देख रही थी। टीवी पर दिखाए जा रहे उस सीरियल में एक लड़की खुद को फांसी लगा रही थी, जिसे देख सिमरन ने भी चुन्नी से फांसी-फांसी खेलने को कहा और खुद ही चुन्नी का फंदा बना फांसी लगा ली। पुलिस के अनुसार बच्ची ने खेलते हुए चुन्नी को एक जगह पर बांधा और खेल-खेल में ही उसे अपने गले में बांधकर झूल गई। ऐसे में चुन्नी में लगी गांठ खुल नहीं पाई और उसकी मौत हो गई। वहीं बच्चों ने सिमरन को फांसी लगाने के बाद बचाने की कोशिश भी की.. उन्होने उसकी चुन्नी को कैंची से काटा और उसे नीचे लिटाया। पर जब बहुत देर तक जब सिमरन नहीं उठी, तब वे बच्चे डर गए और सिमरन की लाश को उसी घर में छुपा कर अपने-अपने घर भाग गए।

फिलहाल पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर बच्ची का शव परिजनों को सौंप दिया। इस मामले में एसपी हेमंत कुतियाल का कहना है कि परिजनों की शिकायत के आधार पर पड़ोसी को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई, पर बाद में जांच के दौरान बच्‍चों से सही जानकारी मिली तो मामला सामने आ गया.. बच्‍चों ने क्राइम शो को देखते हुए वारदात होना बताया है।

वहीं बच्ची के परिजनों का कहना है कि बच्चे अक्सर अकेले ही टीवी सीरियल देखते हैं, पर कभी ऐसा सोचा नहीं था कि इस तरह का हादसा भी हो सकता है। वैसे इस मामले में गनीमत ये रही है कि पुलिस ने प्रकरण की तफ्तीश सही तरीके से कर एक बेकसूर को जेल जाने से बचा लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.