विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का बयान ‘कांग्रेस ने की ओछी राजनीति की हदें पार’

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को राज्यसभा में एक बड़ा खुलासा किया, जिसे जानकर पूरा देश हिल गया, लेकिन विपक्ष संसद में हंगामा करने से बाज नहीं आई, जिसकों लेकर सुषमा ने बड़ा बयान दिया है। बता दें कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में ईराक के मोसुल में गायब भारतीय की जानकारी दी तो संसद में हंगामा हो गया। आइये जानते हैं कि पूरा मामला क्या है?

सुषमा स्वराज ने संसद में खुलासा करते हुए बोली कि चार साल पहले इराक के मोसुल में गायब हुए 39 भारतीय की हत्या कर दी गई है। बता दें कि सुषमा ने यह भी बताया कि ये हत्या आईएसआईएस ने की है, जिसके बाद पूरा देश गमगीन हो गया। राज्यसभा के बाद जब सुषमा लोकसभा में आई तो विपक्ष ने उन्हें बोलने का मौका नहीं दिया, जिसकी वजह से उन्हें अपना भाषण रोकना पड़ा। इस दौरान सुषमा ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाया है।

दरअसल, सुषमा ने कहा कि जब राज्यसभा में मैंने अपनी बात पूरी तरह से शांति के साथ रखा तो मुझे लगा लोकसभा में भी अपनी बात को शांतिपूरक रख पाउंगी, जिसकी वजह से मैं लोकसभा गई तो वहां पर कांग्रेस ने हंगामा करना शुरू कर दिया, जोकि एक ओछी राजनीति ही है। इस दौरान सुषमा भावुक होकर बोली  की मैं राज्यसभा से बहुत ही भारी मन लेकर लोकसभा आई थी, क्योंकि यह खुलासा करना मेरे लिए भी आसान नहीं था, लेकिन जितना भारी मन लेकर मैं लोकसभा गई थी, उतना ही भारी मन लेकर मैं वहां से बाहर आई।

सुषमा ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि विपक्ष के बाकि दल शांत थे, जो आंध्र प्रदेश को लेकर हंगामा कर रहे थे, लेकिन कांग्रेसियों ने जब देखा कि राज्यसभा में सरकार पास हो गई तो उन्होंने जानबूझक लोकसभा में हंगामा किया, जोकि इंसानियत को झकझोंर के रख देता है। सुषमा ने आगे इस पर सवाल उठाते हुए कहा कि क्या मौत पर भी राजनीति करना सही है? क्या कांग्रेस आज के दिन नहीं चुप नहीं रह सकती थी, ये कांग्रेस की ओछी राजनीति का ही परिणाम है।

गौरतलब है कि जून 2014 में इराक में 39 भारतीय खो गये थे, औऱ अब 2018 हो गया है, ऐसे में सुषमा ने कहा कि इस दौरान हमारी सरकार ने दिन रात एक कर दिया, इतना ही नहीं मैं खुद तुर्की गई थी। पर अब जब मुझे ये पता चला तो यह बहुत ही दुखदायी है। सुषमा ने कहा कि इतनी कोशिशों के बाद चजब अब पता चला है, तो कांग्रेसियों ने संसद की कार्यवाही को हंगामा करके स्थगित करा दिया।

Shreya Pandey

Web Journalist