हज सब्सिडी को लेकर ओवैसी ने दिया ऐसा बयान, जिससे मच गई खलबली

नई दिल्ली: मोदी सरकार द्वारा हज सब्सिडी बंद किये जाने पर असदुद्दीन ओवैसी ने यूपी की योगी सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया। जी हां, मंगलवार को केंद्र की मोदी सरकार ने हज सब्सिडी को पूरी तरह से खत्म करने का फैसला लिया, जिसके बाद से ही ओवैसी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को लेकर पीएम मोदी पर बड़ा हमला बोला है।

बता दें कि ओवैसी की नाराजगी इसीलिए नहीं है कि हज सब्सिडी को बंद कर दिया गया है, बल्कि उन्होंने धर्म की राजनीति को लेकर बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाने के साथ ही कुछ सवाल भी पूछ लिये। तो चलिए देखते है कि आखिर ओवैसी ने मोदी सरकार से क्या सवाल पूछा, जिससे खलबली मच गई है?

ovesi on haj subsidy

दरअसल, ओवैसी ने अपने बयान में कहा कि मैं हज सब्सिडी को बंद करने की वकालत 2012 से करता हुआ आया हुआ, लेकिन मोदी सरकार से मेरे कुछ सवाल हैं। बताते चले कि ओवैसी ने मोदी सरकार पर हिंदू-मुस्लिम के आधार पर राजनीति करने के साथ ही वोटोंं के साथ तुष्टिकरण का भी आरोप लगाया है।

जी हां, ओवैसी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए पूछा कि क्या बीजेपी योगी आदित्यनाथ सरकार को अयोध्या, काशी, मथुरा के तीर्थयात्रियों पर 800 करोड़ रुपये खर्च करने से रोकेगी? ओवैसी यही नहीं रूके उन्होंने आगे कहा कि क्या मानसरोवर यात्रा पर जाने वाले तीर्थयात्रियों को मिलने वाले डेढ़ लाख रुपये रोक दिए जाएंगे? ओवैसी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए पूछा कि बीजेपी की हरियाणा सरकार ने डेरा सच्चा सौदा समिति को एक करोड़ रुपये क्यों दिए? इन सब पर केंद्र की मोदी सरकार कब बैन लगाएगी?

बता दें कि ओवैसी ने मोदी सरकार पर भेदभाव की राजनीति का भी आरोप लगाते हुए पूछा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने मध्य प्रदेश सरकार को सिंहस्थ महाकुंभ के लिए क्यों 100 करोड़ रुपये क्यों दिये थे? गौरतलब है कि ओवैसी यह कहना चाहते है कि मोदी सरकार को धर्म के नाम पर दिये जाने वाले किसी भी प्रकार की राशि को रोकना चाहिए, फिर चाहे वो हिंदू धर्म के लिए हो या मुस्लिम धर्म के लिए। खैर, अब यह मामला कौन से मोड़ पर मुड़ता है ये तो वक्त ही बताएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.