समाचार

महाराष्ट्र पुलिस की C-60 यूनिट ने जंगल मे घुसकर 26 नक्सलियों को गोलियों से भून डाला

गढ़चिरौली मुठभेड़ में भीमा कोरेगांव दंगे का आरोपी नक्सली, मिलिंद तेलतुंबड़े समेत 26 ढेर

महाराष्ट्र के नक्सल प्रभावित गढ़चिरौली में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। महाराष्ट्र पुलिस की C-60 यूनिट ने इस अभियान में 26 नक्सलियों को मार गिराया है। एनकाउंटर में 4 जवान भी जख्मी हुए हैं। सूत्रों की माने तो गढ़चिरौली में मारे गए 26 नक्सलियों में भीमा कोरेगांव दंगे का आरोपी मिलिंद तेलतुंबडे का नाम भी शामिल है।

मिलिंद तेलतुंबडे एल्गर परिषद- भीमा कोरेगांव जातीय दंगों के मामले में एनआईए और पुणे पुलिस द्वारा वांटेड था।  इस घटना पर जानकारी देते हुए पुलिस सूत्रों ने कहा कि महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में शनिवार सुबह हुई भीषण मुठभेड़ में कम से कम 26 नक्सली मारे गए हैं, और 3- 4 जवान घायल हुए हैं। सूत्रों ने कहा कि भीमा कोरेगांव हिंसा में मारा गया मिलिंद तेलतुंबडे, खूंखार और दर्दनाक नक्सली था। वह एल्गर परिषद- भीमा कोरेगांव जातिय दंगों के मामले में एनआईए और पुणे पुलिस द्वारा वांटेड आरोपी था।

गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि, ” घंटो चले इस ऑपरेशन में नक्सलियों के हताहतों की इतनी बड़ी संख्या, C-60 के जवानों के लिए लिए एक बड़ी उपलब्धि है।” गोयल ने कहा, “हमने जंगल से अब तक 26 नक्सलियों के शव बरामद किए हैं।”

मुठभेड़ के बाद आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों से मारे गए नक्सलियों की पहचान कराई गई। आत्मसमर्पण करने वाले उन्ही नक्सलियों में से एक ने बताया कि 26 में से एक शव मिलिंद तेलतुंबड़े की है। घटना के बारे में विस्तार से पूछने पर SP गोयल ने कहा कि, मुठभेड़ शनिवार सुबह मर्दिनटोला वन क्षेत्र के कोरची में हुई। उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक सौम्या मुंडे के नेतृत्व में जंगलों में सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा था। इसी दौरान C-60 यूनिट के कमांडो की टीम का सामना इन नक्सलियों से हुआ। जिसके बाद कार्रवाई की गई।

मीडिया रिपोर्ट से पता चला कि मारे गए सभी नक्सलियों की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है।  सूत्रों के मुताबिक मारे गए नक्सलियों में उनका एक प्रमुख विद्रोही नेता भी शामिल है। इस घटना में जवानों की सुरक्षा को लेकर सवाल करने पर पता चला कि इस कार्रवाई में चार पुलिस कर्मी भी गंभीर रूप से घायल हुए जिन्हें इलाज के लिए हेलीकॉप्टर से नागपुर ले जाया गया है।

C-60 बटालियन की इतनी बड़ी कामयाबी पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने ऑपरेशन के लिए जवानों को बधाई दी है। पाटिल ने बधाई होते हुए कहा, “आज का ऑपरेशन भारत के इतिहास में दर्ज हो जाएगा।” पाटिल ने यह भी बताया कि घायल पुलिसकर्मियों की इलाज अच्छे से चल रही है और सबकी हालात सामान्य बनी हुई है।

आपको बता दें कि एनआईए के द्वारा पिछले साल दायर किए गए 10,000 शब्दों के आरोप पत्र में, मिलिंद तेलतुंबड़े के बारे में जानकारी दी गई थी।

Back to top button