राजनीति

कांग्रेस नेता ने हिंदुत्व की तुलना ISIS और बोको हरम जैसे आतंकी संगठन से की, मचा बवाल

कांग्रेस के नेता सलमान खुर्शीद ने अपनी नई किताब में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हरम जैसे आतंकी संगठनों से किया है। जिससे विश्व में हिंदू धर्म को मानने वाले लोगों में नाराजगी है।

सलमान खुर्शीद की इस नई पुस्तक का नाम है सनराइज ओवर अयोध्या: नेशनहुड इन आवर टाइम्स। इस पुस्तक के चैप्टर- 6 “द सैफरन स्काई” में लिखा है- साधु-संत जिस सनातन धर्म और क्लासिकल हिंदुत्व को जानते हैं, उसको किनारा करके हिंदुत्व के ऐसे वर्जन को आगे बढ़ाया जा रहा है, जो हर पैमाने पर आईएसआईएस और बोको हरम जैसे जिहादी इस्लामी संगठनों के राजनीतिक रूप जैसा है।

सलमान खुर्शीद ने किताब में हिंदुत्व की तुलना आतंकी संगठन आईएसआईएस और बोको हरम से करने पर पार्टी के अंदर ही घिर गए हैं। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा- “हम सियासी विचारधारा के रूप में हिंदुत्व से सहमत नहीं हो सकते, लेकिन आईएसआईएस या जिहादी इस्लाम से हिंदुत्व की तुलना सही नहीं है। इस तरह की तुलना तथ्यात्मक रूप से गलत है और अतिशयोक्ति है।

इससे पहले बीजेपी ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला। बीजेपी ने हिंदुत्व पर हमले को यूपी चुनाव से पहले दंगे की साजिश बताया। बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि “आज यही कांग्रेस पार्टी की विचारधारा है और यह बिल्कुल स्पष्ट कर देता है कि देश के जो बहुसंख्यक हैं उनकी भावनाओं को कुचल डालो”।


बीजेपी ने इस मामले में कांग्रेस नेतृत्व से सफाई मांगी है। सलमान खुर्शीद ने कहा कि बीजेपी किताब पढ़े बिना विवाद पैदा कर रही है। सलमान खुर्शीद ने कहा कि “किताब में 300 पन्ने हैं वह पढ़ो, वह एक संदेश दे रहा है कि हमको इस देश को एक करना है, हिंदू मुसलमान को एक करना है।”

इस विवाद पर बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर अपनी नाराजगी जाहिर कीय़। उन्होने लिखा – ‘हिन्दू मेजॉरिटी देश में इतना सम्मान पाकर भी मन में इतना जहर क्यूं? क्यों साबित करना चाहते हो कि तुम भी हामिद अंसारी हो। भारत आज सीरिया, अफगानिस्तान, पाकिस्तान जैसा नहीं तो सिर्फ इसलिए कि यहां हिन्दू बहुसंख्यक हैं।’


बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि कांग्रेस की पाठशाला ही ऐसी है। ऐसी बेवकूफी भरी बातों का कोई मतलब नहीं है। सलमान खुर्शीद ने पुस्तक में लिखा है, ‘ये ऐलान तो नहीं हुआ कि हम जीत गए, लेकिन कभी-कभी ऐसे संकेत दिए जाते हैं। सबको जोड़ने की कोशिश होनी चाहिए। फिलहाल अयोध्या के उत्सव में ऐसा लगता है कि यह एक ही पार्टी का उत्सव है।

‘ सलमान खुर्शीद ने लिखा है, ‘बेशक, हिंदुत्व समर्थक इसे इतिहास में अपने गौरव को मान्यता मिलने के तौर पर देखेंगे। न्याय के संदर्भ सहित जीवन कई खामियों से भरा है, लेकिन हमें आगे बढ़ने के लिए इसके साथ समायोजन की जरूरत है। यह किताब एक विवेकपूर्ण फैसले में उम्मीद देखने की कोशिश है, फिर भले ही कुछ लोगों को यह लगता हो कि फैसला पूरी तरह उचित नहीं था।’ खुर्शीद ने लिखा है, ‘मेरी पार्टी कांग्रेस में चर्चा अक्सर इस मुद्दे की तरफ मुड़ जाती है।

कांग्रेस में एक ऐसा तबका है, जिसे इस बात पर पछतावा है कि हमारी छवि अल्पसंख्यक समर्थक पार्टी की है। इन्होंने अयोध्या पर कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए यह घोषणा कर दी कि अब इस जगह पर भव्य मंदिर बनाया जाना चाहिए। इस रुख ने कोर्ट के आदेश के उस हिस्से की अनदेखी की, जिसमें मस्जिद के लिए भी जमीन देने के लिए कहा गया था।’
आपको बता दें कि इस मामले में विवेक गर्ग नाम के वकील ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से केस दर्ज करने की अपील की है।

Back to top button