स्वास्थ्य

शहतूत के फायदे और नुकसान (Mulberry Benefits and Side Effects)

शहतूत का फल खाने में बेहद ही लाजवाब होता है और इस फल का सेवन करने से शरीर को ढेरों फायदे भी पहुंचते हैं। शहतूत का प्रयोग कई प्रकार की आयुर्वेदिक दवाओं को बनाने में किया जाता है और इस फल के अंदर पोटैशियम, विटामिन ए और फॉस्फोरस प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। शहतूत का फल कच्चा भी खाया जा सकता है। शहतूत के फायदे क्या हैं और इसे खाने से जुड़े नुकसान की जानकारी इस लेख में बताई गई है।

शहतूत के फायदे – Benefits of Mulberries in Hindi

शहतूत के फायदे और नुकसान

शहतूत एक तरह का जगली फल है, जो खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होता है। शहतूत में भरपूर मात्रा में विटामिन पाय जाते है। जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक होते है। तो आइये जानते है शहतूत के फायदे:

पाचन क्रिया हो मजबूत

शहतूत के पत्ते पेट के लिए लाभदायक माने जाते हैं और इस फल के पत्तों का रस पीने से पाचक क्रिया मजबूत हो जाती है। इसके अलावा कच्चे शहतूत का पाउडर खाना भी पेट के लिए गुणकारी माना जाता है। अगर आपकी पाचन क्रिया कमजोर है तो आप रोज इस पेड़ के पत्तों का रस या इसका पाउडर खाया करें।

इस तरह से तैयार करें रस

शहतूत के पत्तों को अच्छे से साफ कर लें और इसे मिक्सी में पीस लें। फिर इन्हें निचोड़कर रस निकाल लें। आप चाहें तो इसमें चीनी भी मिला सकते हैं। वहीं कच्चे शहतूत का पाउडर तैयार करने के लिए शहतूत को साफ करके धूप में सूखने के लिए रख दें। जब शहतूत अच्छे से सूख जाए तो इन्हें पीस लें। शहतूत का पाउडर बनकर तैयार है। आप इस पाउडर को पानी के अंदर डालकर खा सकते हैं या इसे खाने के बाद इसके ऊपर से पानी पी सकते हैं।

एनीमिया का रोग हो दूर

शहतूत के फायदे और नुकसान

शहतूत का सेवन करने से एनीमिया (शरीर में खून की कमी होना) का रोग सही हो जाता है। इस फल में एंटी-हीमोलिटिक होते हैं जो कि हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में सहायक होते हैं। इसलिए जिन लोगों के शरीर में खून की कमी है वो लोग इस फल को खाना शुरू कर दें। दो हफ्ते तक इस फल को खाने से ये रोग ही हो जाएगा और शरीर में खून की कमी पूरी हो जाएगी।

हड्डियों हों मजबूत

शहतूत के फायदे हड्डियों के साथ भी जुड़े हुए हैं और इसे खाने से हड्डियां मजबूत बनीं रहती है। सफेद रंग वाले शहतूत में कैल्शियम उच्च मात्रा में पाया जाता है। जिसकी वजह से इस फल को खाने से हड्डियों के स्वस्थ पर अच्छा असर पड़ता है और हड्डियां कमजोर नहीं पड़ती हैं।

बुजुर्ग लोगों की हड्डियां बढ़ती आयु के साथ कमजोर हो जाती हैं। इसलिए बुजुर्ग लोग इस फल को खाया करें। इसे खाने से हड्डियों की कमजोरी दूर हो जाएगी।

शहतूत के फायदे लू ना लगे

गर्मी के मौसम में लू लगने की समस्या आम बात है। हालांकि अगर शहतूत का रस पीया जाए तो लू से रक्षा होती है। इसलिए गर्मी के मौसम में आप इस फल को जरूर खाया करें या इसका रस पीएं। ताकि आपको लू ना लग सके।

हृदय के लिए लाभकारी

शहतूत के फायदे दिल के साथ भी हैं और इसे खाने से कोलेस्ट्रोल का स्तर सही बना रहता है और हृदय संबंधी रोग नहीं लगते हैं। शहतूत पर किए गए शोध के अनुसार इसकी पत्तियों में एंटी-हाइपरटेंसिव तत्व होते हैं जो कि हृदय के लिए सही माने जाते हैं। इसलिए दिल के रोगी इस फल के पत्तों का सेवन किया करें या इनका जूस पीया करें।

वजन हो कम

अधिक वजन से परेशान लोग शहतूत खाया करें। इसे खाने से वजन कम करने में मदद मिलती है। इसलिए वजन कम करने हेतु इस फल को अपनी डाइट में जोड़ लें और रोज इसका सेवन करें।

जुकाम से हो रक्षा

शहतूत को खाने से जुकाम और खांसी लगने का खतरा बेहद ही कम हो जाता है। दरअसल इस फल को खाने से  प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने से शरीर की रक्षा जुकाम, खांसी और बुखार से होती है। इसलिए जो लोग जल्द ही बीमार पड़ जाते हैं। वो शहतूत का सेवन जरूर किया करें। इस फल को खान से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाएगी और शरीर आसानी से बीमार नहीं पड़ेगा।

त्वचा से जुड़े शहतूत के फायदे

शहतूत के फायदे
शहतूत के तवचा के लिए बहुत अधिक फायदे है, यह हमारे तवचा को जावा बनाए रखने में सहायक है.

रूखी त्वचा से मिले आराम

सर्दी के मौसम में त्वचा शुष्क पड़ जाती है और फटने लग जाती है। त्वचा के शुष्क होने पर शहतूत का सेवन करें। दरअसल शरीर में विटामिन ए और विटामिन ई की कमी होने के कारण ही त्वचा शुष्क पड़ जाती है और शहतूत में विटामिन ए और विटामिन ई उच्च मात्रा में पाया जाता है। जिसके कारण इसे खाने से त्वचा रूखी नहीं होती है।

जलन हो दूर

शहतूत का पेस्ट त्वचा पर लगाने से त्वचा पर होने वाली जलन भी सही हो जाती है। त्वचा पर जलन होने पर शहतूत की जड़ों का पेस्ट इसपर लगा लें। शहतूत की जड़ों का पेस्ट तैयार करने के लिए जड़ों को अच्छे से साफ करके पीस लें। इसके बाद इसके अंदर शहद मिला दें और इस लेप को त्वचा पर 15 मिनट के लिए लगा लें।

त्वचा बनाएं मुलायम

शहतूत के फायदे

शहतूत का रस त्वचा पर लगाने से त्वचा मुलायम और चमकदार बना जाती है। आप पक्के हुए शहतूत को अच्छे से पीस लें और इनके रस को रूई की मदद से अपने चेहरे पर लगा लें। इस रस को 15 मिनट तक चेहरे पर लगे रहने दें और जब ये सूख जाए तो गुनगुने पानी की मदद से चेहरे को साफ कर लें। आपकी त्वचा एकदम चमकदार और मुलायम हो जाएगी।

ऊपर बताए गए शहतूत के फायदों के अलावा ये फल खाने से बालों पर भी अच्छा असर पड़ता है। जो लोग इस फल का सेवन करते हैं उनके बाल मजबूत बनें रहते हैं और बालों का रंग सफेद भी नहीं पड़ता है।

शहतूत के पौष्टिक तत्व

शहतूत में बहुत से पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। आइये जानते है उन पौष्टिक तत्व के बारे में –

पोषक तत्व मात्रा आरडीए पर्सेंटेज
प्रोटीन 1.4 g 3%
फैट 0.39 g
कोलेस्ट्रॉल 0 mg 0%
कार्बोहाइड्रेट 9.8 g 3%
इलेक्ट्रोलाइट्स
सोडियम 10.0 mg
पोटैशियम 194 mg
विटामिन्स
विटामिन ए 25.0 IU 0%
विटामिन सी 36.4 mg 61%
विटामिन ई 0.9 mg 4%
विटामिन के 7.8 µg 10%
फोलेट्स 6.0 µg 1%
विटामिन बी-6 0.1 mg 3%
मिनरल्स
आयरन 1.9 mg 10%
कैल्शियम 39 mg 4%
मैग्नीशियम 18 mg 5%
जिंक 0.1 mg 1%
मैंगनीज
फॉस्फोरस 38 mg 4%
लिपिड
कोलेस्ट्रॉल 0 g 0%
कैफीन 0 g 0%

शहतूत के नुकसान – Side Effects of Mulberries in Hindi

माना की शहतूत के फायदे बहुत अधिक है, पर यदि इसका बहुत अधिक मात्रा में प्रयोग किया जाए, और यदि किसी को इससे किसी को अलर्जी हो तो उसको भी इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए.

  • शुगर के मरीज इस फल का अधिक सेवन ना करें। ऐसा करने से शुगर का स्तर और बढ़ सकता है।
  • अधिक मात्रा में इस फल का सेवन करने से पेट खराब हो सकता है।
  • गर्भवती और दूध पिलाने वाली महिलाओं के लिए ये फल उत्तम नहीं माना जाता है।

इस लेख में हमने शहतूत के फायदे और नुकसान बताने की कोशिश की है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये लेख पसंद आया हो।

यह भी पढ़ें – आलूबुखारा के फायदे

Back to top button