पीएम मोदी ने हरियाणा में किया सर छोटूराम के प्रतिमा का अनावरण, जानिए कौन थे सर छोटूराम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज हरियाणा के सांपला में सर छोटूराम की 64 फिट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया है। यहां उन्होंने एक रैली को भी संबोधित किया। और कहा कि सर छोटूराम का व्यक्तितत्व बहुत ही बड़ा था। सरदार पटेल ने उनके बारे में कहा था कि आज सर छोटूराम जिंदा होते तो पंजाब की चिंता हमें नहीं करनी पड़ती, छोटूराम संभाल लेते। छोटूराम एक महान शख्सियत हैं, ऐसे लोगों के मान बढ़ाने के लिए हमारी सरकार लगातार काम कर रही है।

क्या कहा पीएम मोदी ने- सर छोटूराम के प्रतिमा का अनावरण करते हुए उन्होंने कहा कि हरियाणा देश में तेजी से बढ़ रहा है। कुछ दिन पहले शुरू हुए आयुष्मान भारत योजना की तरफ ध्यानाकर्षित करते हुए पीएम ने कहा कि इस योजना की पहली लाभार्थी हरियाणा की बेटी है। किसानों के मांग को पूरा करते हुए हमने एमएसपी को लगभग दोगुना किया है। जिसे लेकर किसान बहुत समय से मांग कर रहे थे।

हमारी सरकार ने किसानों को बैंकों तक पहुंचाने का काम किया है ताकि साहूकारों से उन्हें कर्ज ना लेना पड़े। पीएम ने कहा कि हमारी सरकार किसानों के हित मे निरंतर काम कर रही है। इससे पहले उन्होंने सोनीपत में रेल कोच रिपेयर फैक्ट्री का शिलान्यास किया। यहां उन्होंने कहा कि देश को सबसे ज्यादा सेवा देने वाले, देश की सुरक्षा में सबसे ज्यादा और खेल में देश का नाम रोशन करने वाले हरियाणा की धरती को नमन करता हूँ।

छोटूराम के बारे में कहा कि किसानों और देश के हित में काफी अहम योगदान है। उन्होंने कहा कि रेल कोच फैक्ट्री पाँच सौ करोड़ रूपए की लागत से बनेगी ये फैक्ट्री हरियाणा के औद्योगिक विकास में सहायक होगा। ये फैक्ट्री यहां के युवाओं को नौकरी देगा। यहां के इंजिनियरों और टेक्निशियन को फायदा पहुँचाएगा। इस फैक्ट्री से रोजगार के नए नए अवसर प्राप्त होंगे।

पीएम ने कहा कि सर छोटूराम की प्रेरणा के कारण ही आज हरियाणा के हर गांव से कोई न कोई सेना में है। छोटूराम के मूर्ति अनावरण को पीएम मोदी ने सौभाग्य का विषय माना। और कहा कि अभी इसी महीने सरदार वल्लभभाई पटेल के दुनिया के सबसे बड़े मूर्ति का अनावरण करने का भी सौभाग्य मिलेगा। उन्होंने कहा कि ये दोनों ही महान शख्सियत थे। दोनों ही नेताओं ने किसानों और गरीबों के हक के लिए कई काम किए हैं।

कौन हैं सर छोटूराम- सर छोटूराम का जन्म सन 1881 में हरियाणा के सांपला में हुआ था। सर छोटूराम को हरियाणा में किसानों और मजदूरों के भगवान के रूप में माना जाता है।