पीलिया से छुटकारा पाने के लिए करें यह आसान घरेलू उपाय, आपकी समस्या होगी जड़ से खत्म

पीलिया होने की वजह हमारी अनियमित जीवनशैली होती है व्यक्ति के अंदर ऐसी बहुत सी आदतें होती हैं जो कि कई भयानक बीमारियों का रुप ले लेती है पीलिया एक मेडिकल कंडीशन है जिसमें बिलीरुबिन की मौजूदगी की वजह से किसी भी व्यक्ति की त्वचा और आंखें पीले रंग की होने लगती है बिलीरुबिन एक वेस्ट उत्पाद है जिसे लीवर द्वारा फ़िल्टर किया जाता है और उन्हें शरीर में बाहर भेजा जाता है जो कि मुख्य रूप से गुर्दे और लीवर का कार्य करता है लीवर के उचित कामकाज की कमी की वजह से बिलीरुबिन प्रणाली से बाहर नहीं निकलता है और इसी तरह यह पीलिया का कारण बन जाता है इसके अलावा गंदा पानी पीने, गंदा भोजन करने, बाजार के भोजन और होटलों से ज्यादा नाश्ता करने, लीवर की कमजोरी, ज्यादा शराब का सेवन, मलेरिया और टाइफाइड के बाद भी पीलिया होने की संभावना रहती है।

जब व्यक्ति को पीलिया की समस्या होती है तो ज्यादातर इसको पहचान नहीं पाते हैं अगर पीलिया जैसी बीमारी को नजरअंदाज किया जाए तो यह आगे चलकर बहुत समस्या खड़ी कर सकती है ज्यादातर व्यक्ति पीलिया का इलाज तब करवाते हैं जब उनकी तबीयत अधिक बिगड़ने लगती है लेकिन तब तक शरीर बहुत कमजोर हो चुका होता है जिसकी वजह से ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है पीलिया के लक्षण का समय पर पहचान नहीं किया जाए तो यह बहुत बड़ी समस्या खड़ी कर सकता है अगर आपके पेशाब का रंग बदल कर हल्का गहरा और पीला हो जाए, दोनों आंखों पर हल्का पीला रंग चढ़ जाए, हाथों की हथेलियों भी हल्की पीली हो जाए, शरीर पीला पीला होने लगे, तेज बुखार, पाचन तंत्र बिगड़ना, कब्ज की शिकायत आदि पीलिया के लक्षण होते हैं आज हम आपको इस लेख के माध्यम से पीलिया के इलाज के आसान घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं जिन उपाय को करके आप पीलिया की बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं।

आइए जानते हैं पीलिया की समस्या से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

करेले का रस

अगर आप करेले के रस का सेवन करते हैं तो इसमें पीलिया को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं इसके सेवन से आपके पीलिया की समस्या बहुत शीघ्र ठीक हो जाएगी पीलिया की समस्या में करेले का जूस बहुत फायदेमंद होता है एक चौथाई कप करेले का रस पिए इससे आपका लीवर स्वस्थ रहेगा।

टमाटर का रस

अगर आप सुबह के समय खाली पेट टमाटर का रस पीते हैं तो यह पीलिया के इलाज का एक अच्छा उपाय है टमाटर में उच्च सामग्री में लाइकोपीन होता है जो हृदय के कार्यों में सहायता करता है और रिकवरी परिक्रिया को तेज करने में मदद करता है अगर आप चाहें तो टमाटर के रस में कुछ काली मिर्च और नमक मिलाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं।

गन्ने का रस

अगर आप पीलिया की समस्या में गन्ने के रस का सेवन करते हैं तो यह बहुत ही लाभकारी माना गया है आप दिन में तीन से चार बार सिर्फ गन्ने का रस पिए इससे आपको बहुत लाभ मिलेगा।

हल्दी का इस्तेमाल

हल्दी का इस्तेमाल पीलिया की समस्या के उपचार में बहुत अच्छा माना गया है हल्दी का आयुर्वेद में उच्च स्थान है पीलिया की समस्या में आप एक चम्मच हल्दी को आधा गिलास पानी में मिलाकर रोजाना दिन में 3 बार इसका सेवन करें इससे शरीर में मौजूद सभी विषैले पदार्थ नष्ट हो जाएंगे यह उपाय बिलीरुबिन को शरीर से बाहर निकालने में बहुत सहायता करता है यह बहुत ही सरल उपाय है।

error: Content is protected !!