राजनीति

नंबर बढ़ाने के लिए महिला लेक्चरर ने छात्राओं को दी गंदी सलाह, लड़कियों ने भिजवाया जेल

हमारे यहां गुरू को भगवान से भी बड़ा दर्जा दिया गया है , क्योंकि शिष्य के लिए वही जीवन में उचित –अनुचित का मार्गदर्शन करते हैं और उनकी दी गई सीख से ही छात्र जटील प्रश्नों का उत्तर पाने में सफल होते हैं, पर आज के समय कुछ शिक्षक, गुरू-शिष्य के इस रिश्ते की गरीमा भूल बैठे हैं, जिनको भगवान की पदवी देना तो दूर, सभ्य इंसान कहना भी मुश्किल है। हाल ही में तमिलनाडु के एक कॉलेज की महिला लेक्चरर ने भी कुछ ऐसी ही हरकत कर इस रिश्ते को शर्मसार कर दिया है। दरअसल परिक्षा में अच्छे अंक की प्राप्त के लिए छात्राएं मार्गदर्शन की आस लिए इस महिला लेक्चरर के पास पहुंची थी, पर इसके बदले इस लेडी टीचर ने उन्हें ऐसी गंदी सीख दी कि उसे सुन कर ही छात्राओं के होश उड़ गए।

दरअसल तमिलनाडु पुलिस ने हाल ही में एक ऐसी महिला लेक्चरर  को गिरफ्तार कर लिया है जिस पर आरोप है कि उसने अपनी छात्राओं को अधिक नंबर पाने के लिए कुछ अधिकारियों के साथ कम्प्रोमाइज करने की सलाह थी। ऐसे में नंबर के लिए यौन संबंध की सलाह देने वाली लेक्चरर के खिलाफ कायर्वाही करते हुए उसे जहां कॉलेज से सस्पेंड कर दिया गया था, वहीं अब उसे अरेस्ट भी कर लिया गया है .. हालांकि उस लेडी टीचर ने ऐसे आरोपों से इनकार किया है।

ये मामला तमिलनाडु के विरुधुनगर जिले के देवांग कॉलेज का है। जहां की महिला लेक्चरर ने लगभग एक महीने पहले नंबर के बदले अधिकारियों के साथ एडजस्ट करने की टिप्पणी की थी।दरअसल लड़कियों और लेक्चरर के बीच इस मामले में हुई बातचीत का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसमें लेक्चरर को ये कहते सुना जा रहा है कि 85% नंबर और स्कॉलरशिप के लिए छात्राओं को कुछ एजुकेशन अफसरों के साथ कम्प्रोमाइज कर लेना चाहिए। ये ‘सलाह’ आरोपी लेडी टीचर ने बीएससी फाइनल ईयर की स्टूडेंट्स को दी थी।

ऐसे में महिला लेक्चरर की ये बात सुन नाराज लड़कियों ने पिछले महीने 19 मार्च को इसकी शिकायत कॉलेज मैनेजमेंट से की थी। जिसके बाद कॉलेज की तरफ इस मामले में जांच करवाई गई और तीन प्रोफेसरों की जांच के आधार पर आरोपी लेक्चरर को अस्थाई तौर पर निलंबित कर दिया गया था। पर ये मामला दुबारा फिर प्रकाश में आया, जब महिला लेक्चरर और छात्राओं के बीच हुई बातचीत सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।

ऐसे में इस मामले के प्रकाश में आने के बाद कॉलेज और कुछ महिला संगठनों की तरफ से आरोपी लेक्चरर की गिरफ्तारी की मांग होने लगी। जिसका संज्ञान लेते हुए पुलिस ने महिला लेक्चरर को उसके घर से अरेस्ट कर लिया। वैसे इस महिला लेक्चरर की गिरफ्तारी के वक्त भी काफी ड्रामा हुआ, क्योंकि पुलिस जैसे ही आरोपी महिला के घर पहुंची तो उसने खुद को घर में बंद कर लिया। ऐसे में कई घंटे इंतजार के बाद पुलिस को दरवाजा तोड़कर अंदर जाना पड़ा । पुलिस ने इस मामले में विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर आरोपी महिला लेक्चरर को हिरासत में ले लिया है

फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है कि आखिर उसने ऐसा क्यों और किसके कहने पर किया है। वहीं इस मामले पर एमकेयू वाइस चांसलर पी. पी. चेल्लाथुरै ने 5 सदस्यीय टीम का गठन कर इसकी जांच का आदेश दे दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close