व्हाट्सऐप पर ग्रुप चला रहे हैं तो हो जाएं सावधान, पुलिस ने जारी की है ऐसी चेतावनी

आजकल सोशल मीडिया, खासकर व्हाट्सऐप के जरिए जिस तरह से गलत संदेश प्रसारित किए जा रहे हैं उसे देखते हुए स्थानीय प्रशासन सतर्क हो चुका है.. यूपी में जहां कई शहरो के प्रशासन की तरफ से व्हाट्सऐप पर आपत्तिजनक पोस्ट और फर्जी खबरें शेयर करने के खिलाफ कानूनी कार्यवाही का आदेश जारी किया जा चुका है। वहीं अब व्हाट्सऐप ग्रुप को लेकर महाराष्ट्र के परभणी जिले की पुलिस ने कुछ चेतावनी जारी की जिसे आपको जरूर जानना चाहिए। चलिए जानते हैं व्हाट्सऐप ग्रुप एडमिन के लिए क्या हैं हिदायतें और शर्ते हैं।

भ्रामक और फर्जी पोस्ट के खिलाफ होगी कार्यवाही

इंटरनेट के इस युग में व्हाट्सऐप हमारे जीवन का हिस्सा बन चुका है, वैसे अपने सगे-सम्बंधियों और परिचितों को संदेश और शुभकामनाएं भेजने के लिए ये एक अच्छा माध्यम साबित हुआ है। ऐसे में आज भारत में व्हाट्सऐप के 60 करोड़ से अधिक मंथली यूजर्स हैं..  इसकी लोकप्रियता का एक कारण इसका निशुल्क होना भी है और साथ ही इसकी तेज गति से संदेश भेजने की सुविधा से लोग खासा प्रभावित हैं। पर हमारे यहां किसी भी चीज के दुरुपयोग में देरी नहीं लगती है, वही हाल अब भारत में व्हाट्सऐप का हो रहा है, आज लोग इसके माध्यम से शुभकामनाओं से अधिक आपत्तिजनक चीजें भेज रहे हैं, समाज में नफरत फैलाने वाले मैसेज प्रसारित किए जा रहे हैं। ऐसे में सरकार और प्रशासन ने भी इसे संज्ञान में लिया है और इसके निवारण के लिए कुछ कदम उठाएं हैं। दरअसल किसी भी व्हाट्सऐप ग्रुप अगर कोई आपत्तिजनक संदेश प्रसारित किया जाएगा तो इसके लिए उसके ग्रुप एडमिन के खिलाफ कार्यवाही हो सकती हैं। ऐसे में अगर आप व्हाट्सऐप पर कोई ग्रुप चला रहे हैं तो पुलिस द्वारा जारी इस चेतावनी को जानना आपके लिए बेहद जरूरी है, जो कि इस तरह है..

व्हाट्सऐप ग्रुप एडमिन के लिए क्या हैं शर्तें

पुलिस की चेतावनी में स्पष्ट किया गया है कि अगर आप ग्रुप एडमिन हैं तो आपके द्वारा संचालित ग्रुप में किसी भी तरह का आपत्तिजनक वीडियो, फोटो या मैसेज शेयर नहीं होना चाहिए।

व्हाट्सऐप ग्रुप में किसी भी तरह के धार्मिक वीडियो, फोटो, टेक्स्ट और ऐतिहासिक आंकड़े शेयर नहीं होने चाहिए।

व्हाट्सऐप ग्रुप में किसी जाति या धर्म विशेष की भावनाओं को भड़काने वाले कंटेंट नहीं शेयर नहीं होने चाहिए। ये बात वीडियो, फोटो, ऑडियो और टेक्स्ट सभी फॉर्मेट पर लागू होता है।

ग्रुप एडमिन को ऐसे किसी भी पोस्ट के खिलाफ तुरंत एक्शन लेना होगा और फर्जी खबरों को अपने ग्रुप से हटाना पड़ेगा, इतना ही नहीं जो ग्रुप मेंबर ऐसी खबरें पोस्ट कर रहा है तो उसे हटाना भी होगा।

वहीं अगर इस मामले में ग्रुप ऐडमिन किसी तरह की लापरवाही करता है तो ऐसी स्थिति में ऐडमिन को दोषी माना जाएगा और उसके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है। ऐसे मामले में ग्रुप एडमिन दोषी पाया जाता है। ऐसे में इसके लिए ग्रुप एडमिन के ऊपर आईपीसी और इनइंफॉर्मेशन एक्ट के तहत कार्रवाई होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!