ब्रेकिंग न्यूज़

यूपी उपचुनाव जीतने के बाद अखिलेश ने किया मायावती का धन्यवाद, बोले ‘बुरे दिन की शुरूआत हो चुकी’

उत्तर प्रदेश के इतिहास में आज की तारीख जरूर दर्ज होगी। जी हां, 26 सालों के बाद गोरखपुर में बीजेपी का किला ढहाने में समाजवादी और पार्टी और बसपा कामयाब रही, जिसकी वजह से अखिलेश यादव ने मीडिया से बात करते हुए सबसे पहले मायावती का धन्यवाद किया। बताते चलें कि उपचुनाव के लिए बसपा और सपा एकजुट हुई थी, जिसकी वजह से सपा और बसपा के वोट ने मिलकर बीजेपी का बंटाधार कर दिया। तो आइये जानते हैं कि मामले में क्या कुछ खास है?

यूपी उपचुनाव जीतने के बाद सड़को पर सपा और बसपा 23 सालों बाद एक साथ झूमते हुए दिखाई दिया। बताते चलें कि 23 सालों बाद बसपा और सपा एक बार फिर से एक हुए हैं, ऐसे में इनकी दोस्ती कहां तक जाती है, ये तो खैर, वक्त ही बताएगा। लेकिन यहां एक बात तो साफ है कि सपा और बसपा के गठबंधन को हल्के में लेकर बीजेपी ने बड़ी गलती की, जिसकी वजह से योगी की साख पर आंच आ गई है। जी हां, सीएम योगी ने हार को स्वीकार करते हुए कहा कि हमने बसपा और सपा के गठबंधन को हल्के में लिया, यही हमारी हार की मुख्य वजह है।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जीत के बाद माडिया से रूबरू होते हुए कहा कि बीजेपी वालों को जनता ने सबक सीखा दिया, उनकी वादाखिलाफी से जनता बहुत दुखी हो चुकी है। ऐसे में गोरखपुर और फूलपुर की जनता ने बीजेपी को नाकार दिया। इसके साथ ही मायावती का धन्यवाद करते हुए कहा कि हमने एक साथ लड़कर इस कठिन लड़ाई में जीत हासिल की, इसके लिए जनता का जितना शुक्रिया किया जाए उतना कम है। अखिलेश यहां अपनी पुरानी दोस्ती को याद करना बिल्कुल नहीं भूले तभी तो उन्होंने इस दौरान कांग्रेस का धन्यवाद करना बिल्कुल नहीं भूले।

जीत के बाद अखिलेश ने बीजेपी पर साधा जबरदस्त निशाना

मीडिया कर्मियों से बात करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी को वापस मुद्दे पर लौटना चाहिए, क्योंकि बीजेपी अब समाज को बांटने वाली राजनीति कर रही है, जिसे जनता ने अस्वीकार कर दिया। इस दौरान अखिलेश ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि अब ये  बीजेपी वाले विकास की बात नहीं करते हैं, ब्लकि समाज को बांटने का काम करते हैं, ऐसे में जनता ने पटरी पर ला ही दिया। याद दिला दें कि इससे पहले बसपा ने कहा कि ये 2019 का ट्रेलर है, पिक्चर अभी बाकी है।

बताते चलें कि इस दौरान अखिलेश ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर भी बीजेपी को आड़े हाथों लिया। अखिलेश ने कहा कि बीजेपी वालों ने जनता को बहुत दुख दिया है,  लेकिन अब जनता बीजेपी को सबक सीखाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। अखिलेश ने आगे कहा कि एक सीट जिससे मुख्यमंत्री आए हों और दूसरे डिप्टी सीएम की सीट पर अगर जनता की इतनी नाराजगी है, तो सोचिए पूरे देश में चुनाव होगा तो क्या हाल होगा? दरअसल, विपक्ष इस जीत से फूली नहीं समा रही है, यही वजह है कि अखिलेश और उनके समर्थन आज जश्न मना रहे हैं।

योगी ने कहा अति आत्मविश्वास की वजह से हारे चुनाव

हार के बाद सीएम योगी ने कहा कि हमारी हार की पहली वजह यह है कि हम जरूरत से ज्यादा आत्मविश्वास कर बैठे थे। इसके अलावा सीएम योगी ने कहा कि हमने विपक्ष को बहुत कमजोर समझ लिया, जिसकी वजह से हमारी हार हुई। साथ ही सीएम योगी ने कहा कि हमें इस चुनाव से सबक लेते हुए 2019 की तैयारी में जुटना चाहिए। बहरहाल, ये देखना दिलचस्प होगा कि क्या बीजेपी 2019 में अपने अपने पुराने फार्म में लौट पाती है या नहीं?

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button
Close