समाचार

पिता ने बेटे से कहा बहू पेट से है..ध्यान से जाना और जल्दी लौटना..लेकिन वो लौटकर कभी ना आ सके…

राजस्थान के अलवर से एक बेहद मार्मिक और दुखद घटना सामने आई हैं। पूरा परिवार सुख पूर्वक रह रहा था। घर एक नए सदस्य के स्वागत के लिए तैयार था क्योंकि घर की बहू पेट से थी और जल्द घर में बच्चे का जन्म होने वाला था। ऐसे ही माहौल में घर का बेटा अपनी पत्नी और बच्चों के साथ बाइक से जाने का प्लान बनाता है। पिता बेटे से कहते हैं कि बेटा बाइक धीरे चलाना…बहू पेट से है …और जल्दी लौट आना। लेकिन इस पिता की बात अब कभी पूरी नहीं हो पाएगी…क्योंकि इनमें से अब कोई लौटकर नहीं आ पाएगा। क्या है पूरा मामला आपको आगे बताते हैं।

घटना राजस्थान के अलवर जिले की है। अलवर के बड़ोदामेव क्षेत्र में भीषण सड़क हादसे में पति पत्नी और छह साल की बच्ची की मौत हो गई। पत्नी गर्भवती थी इसलिए पेट में पल रहा बच्चा भी दुनिया में आने से पहले ही चल बसा। एक बेटा बचा है जो गंभीर रूप से घायल है।

कार ने बाइक को मारी टक्कर

अलवर के भरतपुर मार्ग पर जुगरावर टोल के नजदीक शुक्रवार रात हादसा हुआ। टोल के नजदीक ही एक बेकाबू कार ने पहले एक बाइक को चपेट में लिया और फिर दूसरी बाइक को भी टक्कर मारती हुई कई फीट घसीट ले गई। दूसरी बाइक पर नरेश कुमार अपनी तीन महीने की गर्भवती पत्नी सरिता और छह साल की बेटी मन्नू के साथ सवार थे।

सात साल का एक बेटा कृष्ण भी बाइक पर था।। दूसरी बाइक पर पप्पू नाम का एक युवक था। हादसे में पप्पू और कृष्ण के भी गंभीर चोटें लगी हैं। दोनो को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे के बाद कुछ दूरी पर जाकर कार पलटी खा गई। पुलिस ने शवों को मुर्दाघर में रखवाया और क्षतिग्रस्त वाहनों को मौके से हटाया।

पुलिस ने बताया कि संभव है टोल से कार को तेज गति में लाने के कारण कार चालक संतुलन खो बैठा और यह हादसा हो गया। नरेश के बुजुर्ग पिता ने पुलिस को बताया कि उसे कहा था जल्दी लौटने और बहू का ख्याल रखने के लिए। लेकिन किसे पता था कि अब बेटा और बहू कभी नहीं लौटेंगे। बुजुर्ग पिता की ये बाते सुनकर वहां मौजूद सभी लोगों की आंखों में आंसू आ गए। लोगों को समझ नहीं आ रहा था कि उन्हें कैसे ढांढस बंधाया जाय।

Back to top button
?>