जानें आज का गुडलक, शुक्रवार का गुडलक रखेगा आपको हर विपदा से दूर

हिन्दू दर्म के अनुसार सप्ताह के हर दिन का अपना विशेष महत्व होता है। खासतौर से हिन्दू धर्म के हिसाब से पहने वाले 12 महीनों में भाद्रपद का महिना पूजा-पाठ की दृष्टि से काफी अच्छा होता है। आज शुक्रवार 11.08.2017 को भाद्रपद माह के कृष्णपक्ष की संकष्टी चतुर्दशी पड़ रही है। भाद्रपद कृष्ण चतुर्दशी, शुक्रवार के साथ उत्तरा और पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र होने की वजह से आज के दिन सुकर्मा नामक योग बन रहा है।

इसी के साथ-साथ शक्तिशाली बव और बाल्व नाम के दो ऐसे करक हैं जो विजयकारी कहलाये जाते हैं। आज के दिन के बारे में शास्त्रों में ऐसा कहा गया है कि आज के दिन भगवान गणपति की पूजा आराधना करने से सुख-शौभाग्य की प्राप्ति होती है। संकष्टी चतुर्दशी का व्रत करने से घर-परिवार में आ रही विकत समस्याएँ एवं विपदाएं दूर हो जाती हैं। इस चतुर्दशी के दिन भगवान गणेश को दही का भोग लगाना अत्यंत ही शुभ माना जाता है।

पूजन विधि:

आज के दिन भगवान गणेश की विधिवत पूजा करनी चाहिए। भगवान गणेश के समक्ष सबसे पहले शुद्ध देशी घी का दीपक जलाएं, चन्दन धूप चढ़ाएँ। इसके बाद गोलेचन, सफ़ेद फूल चढ़ाएँ। दही में शक्कर मिलाकर उसमें अपनी छाया देखें और इससे भगवान गणपति को भोग लगायें। यह सब करने के बाद अंत में इस मंत्र का रुद्राक्ष की माला से 108 बात जाप करें। आपके जीवन में सुख-समृद्धि की कभी कमी नहीं होगी।

विशेष मंत्र:

ॐ भक्तविघ्नविनाशनाय नमः॥

विशेष मुहूर्त:

शाम 18:15 से शाम 19:15 तक।

अभिजीत मुहूर्त:

दिन 11:59 से दिन 12:52 तक।

अमृत काल:

रात 1:26 से रात 03:02 तक।

यात्रा महूर्त:

दिशाशूल – पश्चिम। राहुकाल वास – आग्नेय। इस वजह से आज के दिन आग्नेय व पश्चिम दिशा की यात्रा टालें।

शुभ रंग:

सफ़ेद।

शुभ  दिशा:

उत्तर।

शुभ समय:

शाम 17:15 से शाम 18:15 तक।

शुभ मंत्र:

ॐ विभुदेश्वराय नमः॥

शुभ टिप्स:

सौभाग्य प्राप्ति के लिए आज के दिन भगवान गणपती के उपर साबुत सुपारी चढ़ाकर उसे अपनी तिजोरी में रखें।

जन्मदिन के लिए शुभ:

मौली में दूर्वा बांधकर भगवान गणपती के उपर चढ़ाने से नौकरी में तरक्की मिलती है।

एनिवर्सरी के लिए शुभ:

आज के दिन दाम्पत्य जीवन को सुधारने के लिए किसी ब्राह्मण सुहागन को आटा दान करें, इससे आपके दांपत्य जीवन में आई कड़वाहट दूर होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.