सपा सांसद का विवादित बयान, कहा – “व्हिस्की में विष्णु, रम में बसे राम..जिन में जानकी, देशी में हनुमान”

नई दिल्ली – बुधवार को राज्यसभा में सपा के सांसद नरेश अग्रवाल ने हिन्दु देवी-देवताओं पर एक बेहद शर्मनाक टिप्पणी की जिसे लेकर संसद में जोरदार हंगामा हुआ। यह वाकया उस वक्त हुआ जब संसद में गोरक्षा और मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर सुनवाई चल रही थी। इसी दौरान नरेश अग्रवाल ने हिंदू देवी-देवताओं को लेकर बहुत की शर्मनाक बयान दिया। जिसके बाद नरेश अग्रवाल को मांफी भी मांगनी पड़ी। Naresh agarwal comment on hindu gods.

राज्यसभा में हुआ राम, सीता और हनुमान का अपमान :

राज्यसभा में बुधवार को मॉब लिंचिंग पर बहस चल रही थी इसी दौरान सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा – “व्हिस्की में विष्णु, रम में बसे राम..जिन में जानकी, देशी में हनुमान।” नरेश के इस बयान के बाद राज्यसभा में  बवाल मच गया। बीजेपी के सभी सांसद भड़क गए और उनसे माफी की मांगने के लिए कहने लगे।

संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार और अरुण जेटली ने उनके बयान को काफी शर्मनाक बताया। अनंत कुमार ने कहा कि यह बयान हिंदू धर्म का अपमान है, उन्हें माफी मांगनी चाहिए। नरेश अग्रवाल ने आगे ये भी कहा कि कुछ लोग खुद को हिंदू धर्म का ठेकेदार मानते हैं। भाजपा और विहिप से जो लोग सर्टिफिकेट लेकर नहीं आते, वो हिंदू नहीं है।

गाय हमारी माता है तो बैल क्या हुआ :

सपा के सांसद नरेश अग्रवाल यही नहीं रुके उन्होंने हिंदू मान्यताओं का खुलकर मजाक उड़ाते हुए आगे पूछा कि, अगर गाय हमारी माता है तो बैल हमारा क्या हुआ। हालांकि, सपा नेता नरेश अग्रवाल ने हिंदू धर्म की मान्यताओं का मजाक उड़ाने और विरोध होने के बावजूद माफी मांगने को तैयार नहीं थे। नरेश अग्रवाल कि इस तरह की बयानबाजी पर राज्यसभा में जमकर बवाल मचा।

टिप्पणी पर बवाल बढ़ता देख सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया। कुछ देर बाद जब सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई तो एक बार फिर से बीजेपी ने सांसदों ने नरेश अग्रवाल को मांफी मांगने के लिए कहा। यह मांग केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और अनंत कुमार ने की। इसके बाद नरेश अग्रवाल ने मांफी मांगते हुए कहा कि अगर उनके बयान से लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं तो इसके लिए वो खेद प्रकट करते हैं।

देखें वीडियो –