बॉलीवुड

‘रामायण’ में ‘मेघनाद इंद्रजीत’ का रोल निभाकर मशहूर हुआ था एक्टर, बॉलीवुड में भी कर चुका है काम

जब भी दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले रामानंद सागर की रामायण की चर्चा होती है तो सबसे पहले राम, सीता लक्ष्मण से लेकर रावण और कैकई लगभग सभी किरदारों को याद किया जाता है. रामानंद सागर की रामायण में एक किरदार ऐसा भी है जिसने मेघनाद इंद्रजीत बनके सभी लोगों के दिल में अपनी एक खास जगह बनाई थी. क्या आपको पता है की दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले धारावाहिक रामानंद सागर की रामायण में मेघनाथ की भूमिका किसने निभाई थी.

यह थे अभिनेता विजय अरोरा…. यह वही विजय अरोरा हैं जिन्होंने फिल्म “यादों की बारात” में जीनत अमान के हीरो की भूमिका निभाई थी. विजय अरोड़ा ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत साल 1972 में रीना रॉय की फिल्म “जरूरत” के द्वारा की थी, पर इस फिल्म में सिर्फ रीना रॉय को स्टारडम मिला.

इसके बाद विजय अरोड़ा ने जीनत अमान के साथ फिल्म “यादों की बारात” में काम किया. “यादों की बारात” में विजय अरोरा के अभिनय को सभी लोगों ने पसंद किया. भले ही इनकी शुरुआती दो फिल्में बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई पर उन्हें उनके गुड लुक्स के लिए नोटिस किया गया. उस वक्त विजय अरोरा की तुलना राजेश खन्ना के साथ की जाने लगी थी. एक इंटरव्यू के दौरान राजेश खन्ना ने खुद विजय अरोरा की तुलना अपने आप से की थी. राजेश खन्ना ने इंटरव्यू के दौरान कहा था कि “अगर कोई मेरी जगह ले सकता है तो वह विजय अरोरा है” भले ही विजय अरोरा का फिल्मी करियर बहुत छोटा रहा हो, पर उन्होंने अपनी हर फिल्म में उस दौर की टॉप हीरोइनों के साथ अभिनय किया. जिनमें आशा पारेख, जीनत अमान, शबाना आज़मी, जया बहादुरी और मौसमी चटर्जी जैसी सुपर हिट हीरोइनों के नाम शामिल हैं.

विजय अरोरा अपने करियर में सक्सेस हासिल कर ही रहे थे तभी बॉलीवुड में लोगों ने उन्हें लेकर पॉलिटिक्स करनी शुरू कर दी. खबरों के अनुसार उस समय बहुत सारे स्टार्स को विजय अरोरा से डर लगने लगा था कि इंडस्ट्री में हर तरफ विजय अरोड़ा के नाम की ही चर्चा होती थी. विजय अरोरा जहां भी जाते थे लोग उनके पीछे-पीछे चले आते थे.

शायद इसी वजह से विजय अरोरा के साथ हुई राजनीति ने उनके करियर को खत्म कर दिया. उस वक्त परिस्थिति ऐसी हो गई कि विजय अरोरा को धीरे-धरे साइड रोल मिलने लगे और फिर उन्हें साइड रोल मिलना भी बंद हो गया. स्थिति ऐसी आ गई कि विजय अरोरा को बहुत मुश्किल से फिल्मों में काम मिल रहा था. तभी विजय अरोरा की जिंदगी में रामानंद सागर की एंट्री हुई. 80- 90 के दशक में रामानंद सागर ने विजय को अपनी रामायण में मेघनाथ इंद्रजीत की भूमिका ऑफर की.

विजय अरोड़ा ने इस किरदार को निभाने के लिए हां कर दी. रामायण के साथ-साथ मेघनाथ की भूमिका को भी लोगों ने खूब पसंद किया. इस किरदार में विजय अरोरा ऐसे जमे की लोग उनके अभिनय के दीवाने हो गए. मेघनाथ की भूमिका में विजय अरोरा का वह गर्जना अब एक बार फिर से टीवी पर सुनने को मिल रहा है. कोरोना की वजह से हुए लॉक डाउन में एक बार फिर से रामायण का प्रसारण दूरदर्शन पर शुरू हो गया है.

अभिनय की दुनिया से दूर होने के बाद विजय अरोड़ा ने अपना एक सॉफ्टवेयर हाउस भी खोला था. जिस के बैनर तले वह ऐड और कॉरपोरेट्स फिल्म प्रोड्यूस किया करते थे. मेघनाथ की भूमिका से मशहूर हो कर विजय अरोरा बहुत ही खुश थे, पर उनके मन में हमेशा यह टीस रही कि जिस फिल्म इंडस्ट्री में उन्होंने इतना सारा काम किया इतनी सारी सुपरहिट फिल्में दी उसी ने उन्हें भुला दिया. इसी तकलीफ को अपने मन में लेकर विजय अरोरा साल 2007 में पेट के कैंसर की बीमारी से चल बसे.

Show More

Related Articles

Back to top button
Close