विशेष

बुल फाइट में हिस्सा लेने वाले सांड को इस तरह दी जाती है ट्रेनिंग, देख कर हो जाएंगे हैरान … देखें वीडियो

अक्सर आपने भारत में लोगों को सांड से घायल होते देखा होगा। सांड बहुत ही शांत होते हैं, लेकिन माहौल और भूख मिटाने की चाह उन्हें चिड़चिड़ा बना देती है। अपने इसी चिड़चिड़ेपन की वजह से वह लोगों पर हमला करते हैं। कई बार सांड के हमले में लोग अपनी जान भी गंवा देते हैं। वह ज्यादातर अपने सींग से लोगों पर हमला करते हैं।

विश्व में एक ऐसा भी देश है जहां बुल फाइट का कल्चर है। वहां सांड से भिड़ने के लिए लोग तैयार रहते हैं। भारत में लोगों को सांड अपनी जान बचाने के लिए मारते हैं, लेकिन वहां उन्हें इसी काम के लिए तैयार किया जाता है। स्पेन में हर साल बुल फाइट करवाई जाती है। इस खेल में हिस्सा लेने के लिए कई जाबांज तैयार रहते हैं।

सांडों को ट्रेनिग देकर बनाया जाता है उग्र :

बुल फाइट में हिस्सा लेने वाले सभी जाबांज अपनी जान दाव पर लगाकर मैदान में उतरते हैं। हालांकि मैदान में होने वाले हादसे को ध्यान में रखकर उनके बचाव की भी व्यवस्था की जाती है। लेकिन कई बार सांड का हमला इतना खतरनाक होता है कि व्यक्ति की मैदान में ही मौत हो जाती है। बुल फाइट के दौरान सांड को हमला करने के लिए उकसाया जाता है।

अगर आप ये सोच रहे हैं कि सांड पहले से ही उग्र होता है और वह ऐसे ही किसी पर हमला कर देता है तो आप गलत सोच रहे हैं। सांड बहुत ही शांत होता है। वह बिना वजह किसी पर हमला नहीं करता है। बुल फाइट में हिस्सा लेने वाले सभी सांडों को पहले हमला करने के लिए ट्रेनिंग दी जाती है। जब सांड उग्र और हमला करने के लिए तैयार हो जाता है तो उसे बुल फाइट में ले जाया जाता है।

आज हम आपको एक ऐसा वीडियो दिखाने जा रहे हैं, जिसे देखने के बाद आपको यकीन हो जायेगा कि सांड पहले खुद से किसी पर हमला नहीं करते हैं। उन्हें हमला करने के लिए उकसाया जाता है। लगभग सभी सांडों को बुल फाइट में हिस्सा लेने से पहले हमला करने की विशेष ट्रेनिंग दी जाती है। इस खेल के दौरान अब तक कई लोगों की जान भी जा चुकी है।

वीडियो देखें-

https://youtu.be/3q7w7Rzi3fI

Related Articles

Close