राजनीति

राहुल गांधी का बीजेपी अध्यक्ष पर हमला, कहा कौन है नड्डा, मैं नहीं जानता

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्य्क्ष जे पी नड्डा पर कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जोरदार पलटवार किया है. राहुल गाँधी ने कहा कि ‘कौन हैं नड्डा’. उन्होंने नड्डा को यही नहीं छोड़ा इसके आगे कहा कि नड्डा कोई हिंदुस्तान के प्रोफेसर तो हैं नहीं कि उनकी हर बात का जवाब दिया जाए.

आपको बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी पर नड्डा ने मंगलवार को चीन, कृषि कानूनों और कोविड-19 के मुद्दों पर देश में भ्रम फैलाने का आरोप लगाया था. इससे पहले चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश में एक गांव बनाने जैसी खबरों का नाम लेते हुए राहुल गांधी ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार से कई गंभीर सवालों के जवाब मांगे थे.

नड्डा के मामले प्रश्न पूछे जाने पर राहुल गांधी ने पत्रकारों से कहा, बताइये भट्टा परसौल में नड्डा जी कहां थे? किसानों के कर्ज को माफ़ करने के लिए उनके साथ कांग्रेस खड़ी थी. राहुल ने कहा कांग्रेस सत्ता में रहते हुए भूमि अधिग्रहण कानून लेकर आई थी. उस वक्त जेपी नड्डा किधर थे? राहुल यही नहीं रुके उन्होंने भाजपा अध्यक्ष को निशाना बनाते हुए कहा, ‘‘ये हैं कौन? क्या वह इस देश हिंदुस्तान के प्रोफेसर हैं कि उनकी हर बात का जवाब देना जरुरी है? मैं सिर्फ हिंदुस्तान के लोगों और किसानों की बात का ही जवाब दूंगा.

राहुल ने बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए कहा, ‘मैं साफ-सुथरा आदमी हूँ. मैं नरेंद्र मोदी या किसी नेता से नहीं डरता. इनमे से कोई मुझे छू नहीं सकता. हां, गोली मार सकते हैं. मैं देशभक्त हूं और देश की रक्षा करता हूं.आगे भी करता रहूंगा. अगर पूरा देश एक तरफ होगा तो भी मैं अकेला ही खड़ा रहूंगा. मुझे किसी से कोई फर्क नहीं पड़ता’

गौरतलब है कि राहुल ने ये पलटवार जेपी नड्डा के आरोपों के बाद किया है. नड्डा ने इससे पहले कांग्रेस और राहुल को लेकर ट्वीट कर कहा था, ” कांग्रेस, राहुल गांधी और परिवार कब चीन पर झूठ बोलना बंद करेंगे? नड्डा ने ट्वीट में राहुल से सवाल भी किया क्या वह इस बात से इंकार कर सकते हैं कि अरुणाचल प्रदेश की जिस जमीन के बारे में बात करते हैं, उसके अलावा हजारों किलोमीटर जमीन चीन को किसी और ने नहीं, बल्कि पंडित नेहरू ने मुफ्त में दे दी थी? क्यों कांग्रेस चीन के समक्ष अक्सर घुटने टेक देती है?’’

अपने ट्वीट के माध्यम से भाजपा अध्यक्ष ने राहुल गांधी पर किसानों को भड़काने और गुमराह करने का आरोप लगाया और पूछा कि कांग्रेस-नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की सरकार ने स्वामीनाथन आयोग द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट को सालों तक क्यों पेंडिंग कर रखा था और न्यूनतम समर्थन मूल्य क्यों नहीं बढ़ाया गया. नड्डा ने यह सवाल भी किया, ‘‘ किसान दशकों तक कांग्रेस की सरकारों होते हुए गरीब क्यों रहा? जब कांग्रेस विपक्ष में होती है तो तभी उसे किसानों की याद क्यों आती हैं.

नड्डा ने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा, कोविड-19 के खिलाफ चल रही लड़ाई में राहुल गांधी ने देश को पीछे करने का कोई मौका नहीं छोड़ा. आज जब भारत में कोरोना के सबसे कम मामले हैं और हमारे वैज्ञानिकों ने टीका बनाने में सफलता हासिल कर ली हैं, तो उन्होंने वैज्ञानिकों को बधाई क्यों नहीं दी और 130 करोड़ भारतीयों में से किसी एक की भी तारीफ़ क्यों नहीं की?

Back to top button
?>