नई दिल्ली – पीएम नरेंद्र मोदी ने आज झारखंड, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना के भाजपा सांसदों के साथ मीटिंग की। इस तरह की मीटिंग का मतलब यही निकाला जा रहा है कि भले ही 2019 के लोकसभा चुनाव अभी दूर हैं लेकिन पीएम कोई रिस्क नहीं लेना चाहते इसीलिए चुनावों की तैयारी में अभी से जुट गए हैं। पीएम ने मीटिंग में सासंदों को 2019 की राजनीतिक जंग के लिए विजय मंत्र भी दिया। उन्होंने अपने सासंदों, कार्यकर्ताओं और सदस्यों को अभी से तैयार रहने लिए कहा है। Narendra modi meets bjp mp.

 

2019 की तैयारियों में अभी से जुटने की सलाह –

5 राज्यों में विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद भी बीजेपी और पीएम मोदी 2019 में कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं। यूपी की ऐतिहासिक जीत के बाद बीजेपी के हौसले सातवें आसमान पर हैं। 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं और सदस्यों को तैयार रहने के लिए कहा गया है। पीएम ने कहा है कि 2019 का चुनाव मोबाइल पर लड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि मोबाइल ही देश के युवाओं तक पहुंचने का सबसे बड़ा माध्यम है और इसका इस्तेमाल कर सरकार के काम को युवाओं तक पहुंचाना जरूरी है।

जनता को झूठे प्रचार में पड़ने से बचाएं –

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी सांसदों को विपक्ष के झूठे और गुमराह करने वाले प्रचार से जनता को बचाने को कहा है। गौरतलब है कि पीएम मोदी ने गुरुवार को पीएम आवास पर महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के बीजेपी सांसदों के साथ मीटिंग की। सूत्रों के मुताबिक, पीएम ने बीजेपी सांसदों से कहा है कि, वे विपक्ष के झूठे और गुमराह करने के तरीकों को समझकर जनता तक सही जानकारी पहुंचायें।

सरकार गरीबों के हित पर कर रही है फोकस –

पीएम मोदी ने सासंदों को झूठे प्रचार पर उदाहरण देते हुए बताया कि विपक्ष पिछड़ा वर्ग आयोग और जीएसटी को लेकर जनता को गुमराह कर रहा है। इसलिए आप सभी का काम है कि जनता तक सही जानकारी पहुंचे। केंद्र सरकार गरीबों के हित में कार्य कर रही है। पीएम ने यह भी कहा कि बीजेपी गरीबों की पार्टी है। लोगों में उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, किसानों के लिए उठाए गए कई कदम के कारण गांव, गरीब और किसानों के जीवन में पार्टी के प्रति भरोसा कायम हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.