स्वास्थ्य

पुरुषों के लिए वरदान है ‘सहजन’, इसे खाने से नहीं होती ये 4 अंदरूनी बीमारियां, जानें इसके लाभ

पुरुषों के लिए पौष्टिक आहार जरूरी होता है। पौष्टिक आहार खाने से उनके शरीर को ताकत मिलती है और कई तरह के रोगों से उनकी रक्षा भी होती है। पुरुषों के लिए सहजन को बेहद ही सेहतमंद माना जाता है और इसे खाने से उनके शरीर का बचाव कई बीमारियों से होता है। इसलिए आप अपनी डाइट में सहजन की सब्‍जी को जरूर जोड़ लें।

सहजन को मोरिंगा औैर ड्रमस्टिक के नाम से भी जाना जाता है और इसके अदंर काफी औषधीय गुण पाए जातें हैं। ड्रमस्टिक के अदंर कैल्शियम, पोटेशियम, कॉपर, मैग्नीशियम, आयरन और जिंक भरपूर मात्रा में होते हैं। इतना ही नहीं ये सब्जी विटामिन ए, के, बीटा-कैरोटीन, विटामिन बी, विटामिन सी, डी और ई से भी युक्त होती है। इसे खाने से पुरुषों को अंदरूनी रोग नहीं होते हैं। तो आइए जानते हैं कि इसे खाने से किन रोगों से छुटकारा मिल जाता है।

सहजन के फायदे  –

प्रोस्टेट कैंसर से हो बचाव

जो पुरुष सहजन का सेवन करते हैं उनको प्रोस्टेट कैंसर होने की संभावना बेहद ही कम हो जाती है। इसके बीज और पत्तियों में सल्‍फर युक्त कंपाउंड यानी ग्लूकोसाइनोलेट्स पाया जाता है। जिसमें एंटीकैंसर गुण होते हैं। सहजन पर किए गए कई अध्ययनों में ये बात साबित हो चुकी है कि इसे खाने से पुरुषों के प्रोस्टेट कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि नहीं होती है और इस कैंसर से उनका बचाव होता है। साथ में ही ये सॉफ्ट प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया को रोकने में भी मददगार होता है। सॉफ्ट प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया के कारण पेशाब करने में परेशानी होती है।

इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन हो दूर

सहजन खाने से इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन की समस्‍या भी पैदा नहीं होता है। मोरिंगा के बीज और पत्ते के अदंर पाए जाने वाले तत्व इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन को कम करने का काम करते हैं। इसलिए जिन लोगों को भी ये समस्या हो वो अपनी डाइट में इस सब्जी को जोड़ लें और इसे जरूर खाएं।

ब्‍लड शुगर ना बढ़ें

ब्‍लड शुगर की समस्या से बचाव करने में भी सहजन लाभकारी होता है। इसे खाने से टाइप 2 डायबिटीज नहीं होती है और शुगर सदा कंट्रोल में रहती है। दरअसल पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं होने से शुगर हो जाती है। हालांकि इसे खाने से इंसुलिन का उत्‍पादन सही से होता है और ये रक्‍त शर्करा में वृद्धि नहीं होने देता है। इसलिए सहजन को खाने से शुगर के रोग को भी होने से रोका जा सकता है।

प्रजनन क्षमता बढ़े

प्रजनन क्षमता को मजबूत बनाए रखने में भी ये सब्जी कारगर साबित होती है। इसे नियमति रुप से खाने से प्रजनन क्षमता कमजोर नहीं होती है। दरअसल मोरिंगा की पत्तियां और बीज एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते हैं। वहीं इस सब्जी पर किए गए कई शोधों में पाया गया है कि जो पुरुष इस सब्जी का सेवन करते हैं उनकी प्रजनन क्षमता बढ़ती आयु के साथ कमजोरी नहीं पड़ती है।

इस तरह से करें इसका सेवन

सहजन का सेवन कई तरह से किया जा सकता है। कई लोग इसकी सब्जी बनाकर खाते हैं। जबकि कुछ लोग इसके चूर्ण का सेवन करते हैं। सहजन का चूर्ण तैयार करना बेहद ही आसान है। आप इसकी पत्तियों और बीजों को साफ करके धूप में सूखा दें। जब ये अच्छे से सूख जाए तो इन्हें पीस कर पाउडर तैयार कर लें। इस चूर्ण को डब्बी में भरकर रख लें और रोज एक चम्मच इस चूर्ण का सेवन करें।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close