राजनीति

सर्जिकल स्ट्राइक : पाकिस्तान में घुसकर किया आंतकियों का वध! आज इस तरह हो हुआ शूरवीरों का सम्मान!

नई दिल्ली – नापाक पाकिस्तान की सीमा में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने वाली सेना की विशेष इकाई 4 और 9 पैरा के 19 सैनिकों को आज 68वें गणतंत्र दिवस के मौके पर कीर्ति चक्र सहित वीरता पदकों से नवाजा गया। जबकि सर्जिकल स्ट्राइक में शामिल उनके कमांडिंग अधिकारियों को युद्ध सेवा पदक से सम्मानित किया गया। आपको बता दें कि उरी में आतंकी हमले के बाद देश के इन जांबाज सैन्य अधिकारी और सैनिकों ने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक कर कई आतंकी कैंप ध्वस्त किए और लगभग 60 के करीब आतंकियों को मार गिराया था। Medal for heroes of surgical strike.

एलओसी पार सर्जिकल स्‍ट्राइक करने वाले जवानों को वीरता पुरस्कार –

एलओसी पार कर पाकिस्तान में घुसकर और सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकी ठिकानों को नष्ट करने वाले सेना के जवानों को वीरता पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। मोदी सरकार ने गणतंत्र दिवस की पूर्वसंध्या पर इस टीम के 22 जवानों को पुरस्कार देने का ऐलान किया था। ये बहादुर जवान सेना की 4 और 9 पैरा स्पेशल फोर्सेज रेजिमेंट के हैं।

लेफ्टिनेंट कर्नल अतुल गुप्ता, 30 राजस्थान रायफल्स, मेजर डी. विनय रेड्डी, 7 मद्रास बटालियन, मेजर रजत चंद्रा, 4 पैरा (एस एफ) बटालियन, मेजर दीपक कुमार उपाध्याय, 9 पैरा (एस एफ) बटालियन, कैप्टन आशुतोष कुमार, 4 पैरा (एस एफ) बटालियन, कैप्टन अशिक एम बी, 1/5 गोरखा रायफल्स, नायब सूबेदार विजय कुमार, 4 पैरा (एस एफ) बटालियन, हवलदार हनुमान रामशरण, राजस्थान रायफल्स, नायक गवड़े पंडुरंग महादेव (मरणोपरांत) और पीटीआर अब्दुल कयूम, 9 पैरा (एस एफ) बटालियन को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है।

उड़ी हमले के बाद ऐसे हुई थी सर्जिकल स्ट्राइक –

आपको याद दिला दें कि 18 सितंबर को उड़ी में सीमा पार से आए 4 आतंकियों ने आर्मी हेडक्वार्टर पर हमला किया था, जिसमें 19 जवान शहीद हुए थे। हमले के 10 दिन बाद (28 सितंबर की रात) आर्मी के स्पेशल फोर्स के 125 कमांडो हेलिकॉप्टर से एलओसी के पास उतारे गए जिन्होंने  पाक अधिकृत कश्मीर में स्थित आतंकियों के लॉन्च पैड्स को तबाह करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। जम्मू-कश्मीर के उड़ी में एक सेना के कैंप पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत की ओर से यह जवाबी कार्रवाई की गई थी। आतंकी हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे। इस दौरान करीब 60 आतंकी मारे गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close