स्वास्थ्य

ये 5 फूड आइटम्स व्यक्ति के अंदर भर देते हैं अवसाद के विकार, जानिए इनके बारे में

आज के दौर में हर दूसरा व्यक्ति किसी ना किसी परेशानी से घिरा हुआ है. अगर आप कोई सर्वे कर लें तो कोई ऐसा व्यक्ति नहीं है जो चिंतामुक्त जिंदगी जी रहा हो क्योंकि परेशानी हर इंसान के जिंदगी का हिस्सा बन चुका है. यही परेशानी धीरे-धीरे व्यक्ति को डिप्रेशन में डाल देती है और फिर उनका सही होना मुश्किल होता है. इसके बाद अपनी परेशानियों से दूर रहने के लिए वो डॉक्टर्स और दवा का सहारा लेते हैं. वैसे डिप्रेशन की बीमारी काफी गंभीर होती है इसमें इंसान अगर सही समय पर इलाज नहीं करवाता है तो वो अपना मानसिक संतुलन भी खो सकता है. ऐये 5 फूड आइटम्स व्यक्ति के अंदर भर देते हैं अवसाद के विकार, इन्हें अपने जीवन में ज्यादा अपनाने से भी व्यक्ति को अवसाद यानी डिप्रेशन जैसी बीमारी हो जाती हैं.

ये 5 फूड आइटम्स व्यक्ति के अंदर भर देते हैं अवसाद के विकार

विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक अनुमान के मुताबिक, अवसाद विश्व स्तर पर फैली आम बीमारियों में से एक बन चुका है. पूरी दुनिया में लगभग साढ़े तीन करोड़ लोग इस स्थिति से प्रभावित हैं और यह एक मूड डिसऑर्डर है जो मन में उदासी की भावना प्रकट कर देता है. नींद नहीं आना, भूख ना लगना, तेजी से वजन का कम या बढ़ जाना, लगातार सिरदर्द और दिन भर की थकावट का एहसास अवसाद के लक्षण बन जाते हैं. एक व्यक्ति में दूसरे व्यक्ति के मुकाबले इसके लक्षण हो सकते हैं. ग्लासगो विश्वविद्यालय द्वारा हाल ही में सामने आए एक रिसर्च में बताया गया है कि कैसे आपकी डाइट आपकी मानसिक स्थिति को ठीक रख सकते हैं. इन फूड आइटम्स से आप अपनी अवसाद की परेशानी को दूर रख सकते हैं.

ग्लूटेन

ग्लूटेन आपके आंत और आंत से संबंधित ऊतकों में दिक्कत पैदा करके सूजन और जलन होने लगती है. ग्लूटेन, जोनुलिन नाम के अंपाउंड का उत्पाद करना है जिससे आंतों में छेद हो जाते हैं. जर्नल गट में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, ग्लूटेन आंत की कोशिकाओं में सूजन पैदा करता है, इससे प्रतिकूल प्रभाव पड़ते हैं और स्वस्थ लोगों को अवसाद हो सकता है.

वेजिटेबल ऑयल

सैफफ्लावर ऑयल, सनफ्लॉवर ऑयल, सोयाबीन ऑयल या फिर कैनोला ऑयल को प्रोसेस्ड ऑयल के रूप में जाना जाता है. इन्हें बनाने के लिए उच्च ताप और रासायनिक सॉल्वैंट्स की जरूरत होती है. जर्नल ब्रेन रिसर्च बुलेटिन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, ऐसा बताया गया कि लंबे समय तक वेजिटेबल ऑयल का सेवन करने से तनाव का खतरा बढ़ जाता है.

शुगर

शुगर का ज्यादा सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक होता है और यह व्यक्ति को अवसाद की ओर भी ले जाता है. उच्च रक्त शुगर स्रत सूजन और जलन पैदा करता है जो अवसाद का मुख्य कारण बन जाता है.

डेयरी उत्पाद

डेयरी उत्पादों में केसीन नाम का एक प्रोटीन पाया जाता है जो कि एक प्रकार के पागलपन और अवसाद जैसी अलग-अलग मनोविकार से जुड़ा हुआ होता है.

ट्रांस फैट

बर्गर, फ्रेंच फ्राइड और जंक फूड ये कुछ ऐसे फूड आइटम्स होते हैं जो ना केवल आपके अंदर हृदय संबंधित बीमारियों के खतरे को बढ़ाता है बल्कि ये तनाव की संभावनाओंक को भी बढ़ाता है.

Back to top button