विशेष

इन 7 लोगों को भूलकर भी ना लगाएं पैर, नहीं तो हो जाएगा आपका जीवन बर्बाद

किसी को भी पैरों से छूना या फिर उनको पैर लगाना सही नहीं माना जाता है। हमारे शास्त्रों के अनुसार अगर आप इन 7 तरह के लोगों को पैर लगा देते हैं तो आपके जीवन में दुख आने शुरू हो जाते हैं और आपको पाप चढ़ जाता है। इसलिए कभी भी आप इन 7 तरह के व्यक्ति को भूलकर भी अपने पैरा ना लगाएं।

ब्राह्मण

शास्त्रों में ब्राह्मणों का स्थान सबसे उच्च बताया गया है और ब्राह्मण का अपमान करना सही नहीं माना गया है। अगर आप किसी भी ब्राह्मण का अपमान करते हैं तो आपको पाप लग जाता है। ब्राह्मण का निरादर करना, उनको भूखा घर से भेजना, उनकी सेवा नहीं करना और उनको पैर लगाना पाप माना गया है। इसलिए आप कभी भी ब्राह्मण को अनादर ना करें और उनको अपने पैरों से ना छूं.

गुरु

छात्रों के जीवन में उनके गुरु का स्थान सबसे ऊपर होना चाहिए। गुरु का सम्मान करना हर छात्र का धर्म होता है। किसी भी छात्र को अपने गुरु का अपमान नहीं करना चाहिए और ना ही उनको कुछ अपशब्द या फिर उनको पैर लगाने चाहिए। आप जब भी अपने गुरु से मिलें तो उनके चरण को छूएं और उनका आर्शीवाद लें।

अग्नि

अग्नि को पवित्र माना गया है और हवन के दौरान अग्रि की पूजा जरूर की जाती है। आप कभी भी अग्नि का अपमान ना करें और अग्रि को पैर ना लगाएं। हमारे धर्म में अग्रि को भगवान भी माना गया है और अग्रि देव की पूजा भी कि जाती है। इसलिए आप जब भी अग्रि को पैरों से छूते हैं तो आप अग्रि देव का अपमान करते हैं। इसके अलावा अग्रि की मदद से ही हम लोग खाने की चीजों को बना पाते हैं और अग्नि को पैर लगाने से आपके जीवन में अनाज की कमी आ सकती है।

कन्या

छोटी कन्याओं को देवी मां का रूप माना जाता है और इनका पूजन भी किया जाता है। छोटी कन्या के पैर छूना अच्छा माना जाता है। वहीं कन्या को अगर पैर लग जाते हैं तो आपको पाप लग जाता है। छोटी कन्या की तरह ही कुंवारी कन्या और बच्चों को भी पैर नहीं लगाने चाहिए। क्योंकि कुंवारी कन्या को लक्ष्मी माना जाता है और बच्चों में भगवान का रूप होता है।

वृद्ध लोगों

वृद्ध लोगों की सेवा करने से आपको उनका आर्शीवाद मिलता है और आपके जीवन में तरक्की होती है। वहीं जो लोग वृद्ध लोगों का सम्मान नहीं करते हैं उनसे भगवान नाराज हो जाते हैं और उन्हें अपने जीवन में कभी भी कामयाबी नहीं मिलती है। आप अपने घर के वृद्ध लोगों का सम्मान करें और कभी भी भूलकर उन्हें पैर ना लगाएं और ना ही उनको अनादर करें।

माता पिता

जो लोग अपने माता पिता का अपमान करते हैं और उनको सम्मान नहीं देते हैं, उन लोगों को जीवन में हमेशा ही कष्ट का सामना करना पड़ता। माता पिता की सेवा करने से आपको पुण्य प्राप्त होता है। वहीं इनको पैरों से छूते ही आप पाप के भागीदारी बन जाते हैं।

पत्नी

किसी भी घर को चलाने में उस घर की मुख्य महिला का अहम योगदान होता है और महिलाओं का सम्मान जरूर करना चाहिए। किसी भी पति को अपनी पत्नी का अपमान नहीं करना चाहिए और ना ही अपनी पत्नी को पैरों से छूना चाहिए। ऐसा करने से घर की शांति भंग हो जाती है और घर के लोगों के जीवन कष्ट ही रहते हैं।

Back to top button
?>