राजनाथ सिंह ने किया बड़ा खुलासा कहा पांच साल में सरकार ने 3 बार की सर्जिकल स्ट्राइक राजनाथ सिंह ने कहा कि दो सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी आपको है,तीसरी के बारे में नहीं बताऊंगा

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने एक बहुत बड़ा खुलासा किया है और बताया है कि भारत की और से पाकिस्तान की सीमा में घुसकर दो बार नहीं बल्कि तीन बार सर्जिकल स्ट्राइक की गई है। कर्नाटक में एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए राजनाथ ने ये खुलासा किया है। हालांकि राजनाथ  सिंह ने तीसरी बार की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में कोई भी जानकारी नहीं दी और कहा कि वो इसके बारे में कुछ बता नहीं सकते हैं। राजनाथ ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को एक सख्त संदेश दिया है और हमारे देश की सत्ता में मजबूत पार्टी की सरकार है इसलिए ऐसा हो सका है।

एक सम्मेलन के वक्त दिया ये बयान

बीजेपी पदाधिकारियों  के लिए आयोजति किए गए सम्मेलन के दौरान भाषण देते समय हमारे देश के गृह मंत्री ने कहा कि पिछले पांच सालों में तीन बार सीमा के बाहर जाकर हम लोगों ने एयर स्ट्राइक कर कामयाबी हासिल की है। दो की जानकारी आपको है और तीसरी की मैं नहीं दूंगा। अपने इस बयान में राजनाथ ने आगे कहा कि आप लोगों ने देखा की एक बार पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने रात को सो रहे हमारे 17 सैनिकों की हत्या कर दी थी। इस कायराना हमले के बाद हमारे देश की सेना ने इसका बदला लेने का फैसला लिया और उसके बाद क्या हुआ ये मुझे बताने की जरूरत नहीं है। वहीं दूसरी बार पुलवामा में हुए हमले के बाद हम लोगों ने एयर स्ट्राइक की थी और तीसरी की जानकारी में नहीं दूंगा।

भारत अब कमजोर नहीं रहा

राजनाथ सिंह ने कहा कि अब हमारा देश कमजोर नहीं है और अगर पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़ावा देता रहेगा तो फिर उसे इसकी भारी कीमत चुकानी होगी। अपने बयान में  राजनाथ ने कहा कि साल 2028 तक हमारा देश विश्व की तीन सर्वाधिक शक्तिशाली देशों में शामिल हो जाएगा। वहीं अपनी पार्टी के बारे में बात करते हुए इन्होंने बताया कि बीजेपी राष्ट्र को मजबूत बनाने की राजनीति करती है ना की सत्ता हासिल करने के लिए, जबकि कांग्रेस पार्टी केंद्र में आने के लिए अन्य पार्टियों के साथ गठबंधन करके राजनीति कर रही है।

कब कब की गई सर्जिकल स्ट्राइक

गौरतलब है कि उरी में हुए आतंकी हमले के बाद हमारे देश ने पहली बार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की सीमा में घुसकर उन आतंकवादियों को मार गिराया था जिन्होंने उरी हमले को अंजाम दिया था। ये हमारे देश की और से की गई पहली सर्जिकल स्ट्राइक थी। वहीं इस साल फरवरी के महीने में आतंकवादियों ने एक बार फिर हमारे सेना के जवानों पर हमला किया था और इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले की जिम्मदेरी पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्‍मद ने ली थी। इस हमले के 13 दिनों बाद ही भारत ने एक बार फिर से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में घुसकर एयर स्ट्राइक की थी और ये एयर स्ट्राइक में जैश-ए-मुहम्‍मद  के उन ठिकानों पर की गई थी जहां पर लोगों को आतंकवादी बनने के लिए ट्रेनिंग दी जाती थी।