पेट से जुड़ी हर समस्या से राहत दिलवा सकता है लौंग, बस इस्तेमाल करने का सही तरीका जान लीजिए

लौंग एक प्रकार का मसाला है जिसे भोजन का स्वाद बढाने के लिए आम तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. लेकिन आपको बता दें कि मामूली सा दिखने वाला लौंग सेहत के लिए बेहद उपयोगी साबित हो सकता है. इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट, विटामिन सी, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन आदि जैसे कईं पौषक तत्व भारी मात्रा में मौजूद होते हैं जोकि पेट से संबंधित रोगों का रामबाण इलाज साबित हो सकते हैं. यह भोजन को पचाने में मदद करता है और इसमें मौजूद पौषक तत्व पेट से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा दिलवाने में मदद करते हैं. शायद यही कारण है जो सदियों से आयुर्वेद में लौंग एक विशेष औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है. आज हम आपको लौंग के सेवन के कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपकी पाचन प्रणाली को बेहतर बना कर पेट से जुड़े रोगों को जड़ से मिटा देंगे.

लौंग की चाय 

सर्दी हो या फिर गर्मी चाय की चुस्कियां हर कोई लेना पसंद करता है. लेकिन यदि  लौंग की चाय पी जाए तो यह पेट के लिए किसी काढ़े से कम साबित नहीं  होती. लौंग हमारी पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है साथ ही यह डाइजेस्टिव ट्रैक्ट के बेहतर कार्य में मदद करता है. लौंग की चाय पीने से शरीर में मौजदू हानिकारक बैक्टेरिया ख़त्म हो जाते हैं जोकि पेट को दरुस्त रखने में मदद करते हैं. ऐसे में यदि आप भी लौंग की चाय पीना चाहें तो इसके लये सबसे पहले आप लौंग को पीस लें और फिर एक कप पानी में डाल कर उबाल लें. अब इस चाय को सुबह और शाम को पीने से आपको कईं लाभ अनुभव होंगे.

लौंग की कलियाँ

लौंग की सुगंध बेहद प्राकृतिक होती है. इसे मुंह में रखने से मुंह की दुर्गंध दूर की जा सकती है और दांतों के दर्द से बचा जा सकता है. इसके इलावा यदि आपको उल्टियाँ, उबकन या जी मतलाने जैसी कोई समस्या है तो लौंग आपके काम आ सकता है. उबकन से राहत पाने के लिए आप लौंग के तेल की कुछ बूँदें एक रुमाल पर गिरा कर सूंघे. इसके इलावा आप इस स्तिथि से बचने के लिए लौंग की दो से तीन कलियाँ चबा कर खा सकते हैं. वहीँ अगर आपको बार बार उलटी आ रही है तो लौंग को पीस कर पाउडर बना लें और शहद में मिला कर पी लें.

भोजन में मिला कर सेवन

पाचन क्रिया को दरुस्त बनाने के इलावा लौंग हमारे लार का उत्पादन भी दुगुना करता है. ऐसे में यदि आप दो से तीन लौंग की कलियाँ सुबह चबा कर आवश्य खाएं. यदि आपको इसका स्वाद अच्छा नही लगता तो आप इसे किसी सब्जी या फिर मीठे में मिला कर भी खा सकते हैं.

पेट को रोगों से मुक्त रखने के लिए और कब्ज़ जैसी समस्या से बचाने में लौंग एक वरदान समान साबित होता है. कब्ज़ की स्तिथि में भी लौंग की चाय आपके काम आ सकती है. इस चाय में आप लौंग को पीसने की जगह पूरे लौंग को पानी में उबाल कर पी लें.