इस जगह पर दूल्हे को नहीं बल्कि दुल्हन को दिया जाता है लाखों का दहेज और तोहफे

अक्सर शादी में लड़की वालों की ओर से अच्छा खासा दहेज दिया जाता है. मगर दुनिया में ऐसी जगह भी हैं जहां पर लड़के वाले लड़कियों को दहेज दिया करते हैं. इतना ही नहीं शादी का अधिकतर खर्चा भी लड़के वालों की और से उठाया जाता है और इस तरह की शादी कहीं और नहीं हमारे बल्कि हमारे पड़ोसी देश चीन में होती है.

शादी के दौरान लड़की को दिए जाते हैं महंगे तोहफे

चीन के देश में इस प्रकार से होने वाली शादी के दौरान लड़के वाले लड़कियों को खूब महंगे महंगे तोहफे दिया करते हैं. जिसके चलते यहां पर होने वाली इन शादियों का खर्चा एक करोड़ रुपए से ऊपर पहुंच जाता है.

आखिर क्यों लड़की को दहेज दिया जाता है

अगर आप सोच रहे हैं कि ये इस देश की परम्परा है तो आप एकदम गलत हैं क्योंकि ये कोई परम्परा नहीं हैं. और लड़कियों को इसलिए दहेज दिया जाता है क्योंकि इस देश में लड़कियों की संख्या लड़कों के मुकाबले काफी कम है. जिसके चलते इस देश के लड़कों को शादी करने के लिए लड़कियां नहीं मिल पा रही हैं और जो लड़कियां हैं उनको दहेज देखकर शादी के लिए मनाया जा रहा है.

चीन में किए गए एक सर्वे के अनुसार इस तरह से शादी करने पर खूब खर्चा हो रहा है और यहां पर एक शादी के दौरान ही 1.50 करोड़ का खर्च आ रहा है. हैरान करने की बात ये हैं कि इस देश के परिवार की औसत आय प्रति वर्ष 1.90 लाख के आस पास की ही हैं.

शादी के खर्च रोकने के लिए बनाया गया नियम

महंगी शादियों को रोकने के लिए इस देश के हेनान प्रांत के प्युआंग प्रशासन ने नियम तैयार किए हुए हैं और इन नियमों में निर्धारित की गई राशि को ही शादी पर खर्च किया जा सकता है. शादी से जुड़े इन नियमों के अनुसार गांव के इलाकों में रहने वाले दूल्हा और उसके परिवार द्वारा दुल्हन के परिवार वालों को दिए जाने वाले तोहफे और संपत्ति की कीमत 6 लाख 35 हजार से अधिक नहीं होनी चाहिए. जबकि मेहमानों को खाना खिलाने का  खर्चा 3 लाख 17 हजार से अधिक नहीं होना चाहिए.

शहर में तोहफे और संपत्ति देने की ये सीमा 5 लाख 30 हजार रखी गई है और दावत के खर्चे की सीमा 2 लाख 11 हजार रुपए की है. इसके अलावा लोगों को ये सलाह भी सरकार ने दी है कि इन शादियों के रिसेप्शन के वक्त केवल 15 टेबल ही रखें जाएं और गांव में प्रति टेबल की लागत 3178 रुपए से अधिक ना हो. जबकि शहरी इलाकों में प्रति टेबल की कीमत 6356 से अधिक ना जाने की सलाह दी गई है.

वर्ल्ड बैंक द्वारा दी गई एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017 में इस देश में लड़कियों की तुलना में 4.2 करोड़ लड़के ही है और इस देश में 100 लड़कियों पर 115 लड़के हैं. इसी वजह से इस देश के काफी लड़कों की शादी नहीं हो पा रही है और जो लड़कियां हैं उनको अधिक दहेज देकर उनसे शादी की जा रही है. इतना ही नहीं व‍िशेषज्ञों के अनुसार यही स्थिति रहने पर साल 2020 तक इस देश में तीन करोड़ लड़के कुंवारे रह सकते हैं.