सामने आया हैरान करने वाला मामला: लड़की को अकेला देखकर पीछे पड़ जाते हैं साँप, एक महीने में डंसा 5 बार!

लड़की को अकेला देखकर पीछे पड़ जाते हैं साँप: कई बार हमारे आस- पास कुछ ऐसा घट जाता है, जिसपर हमें यकीन नहीं होता है। वह घटनाएं बिलकुल फिल्म की कहानी की तरह लगती हैं। आपने नाग- नागिन की कहानी के बारे में तो सुना ही होगा। इसके ऊपर एक फिल्म भी बनी है नागिन। उसमे एक नागिन अपने जोड़ीदार नाग की मौत का बदला लोगों को मारकर लेती है। जिन लोगों ने उसके नाग को मारा होता है, वह उन्हें खोजकर मारती है।

कुछ लोग कहते हैं कि साँप मरते वक़्त अपनी आँखों में सब कुछ कैद कर लेते हैं, जिसे उसकी नागिन देख सकती है। यह सच है या नहीं, यह तो मुझे नहीं पता। लेकिन इसी तरह की एक घटना अभी हाल ही में देखी गयी है, जिसमे अपने साँप की मौत का बदला कुछ साँप मिलकर ले रहे हैं।

एक महीने में डंसा 5 बार

दरअसल यह घटना उत्तराखंड की है। वहाँ की एक महिला ने यह दवा किया है कि, वह जब भी कहीं अकेली होती है, तो उसे बहुत सारे साँप आकर घेर लेते हैं। सभी साँप मिलकर उसपर हमला करने की कोशिश करते हैं। हालांकि इसको किसी और ने अपनी आँखों से नहीं देखा है। महिला ने बताया कि अगर वह कही भी अकेले जाती है, तभी साँप उसका पीछा करते हैं। अगर साथ में कोई और होता है तो साँप नहीं आते हैं। पीड़िता महिला का नाम संगीता बताया जा रहा है।

क्या है पूरा मामला (पीछे पड़ जाते हैं साँप):

आस- पास के लोगों का कहना है कि संगीता के घर में कुछ दिनों पहले एक साँप घुस गया था। साँप को संगीता के ससुर ने मार दिया था। साँप के मरने के कुछ दिनों के बाद से ही संगीता के साथ यह घटना हो रही है। वह जहाँ भी अकेली जाती है, साँप उसका पीछा करते हुए पहुँच जाते हैं। संगीता ने बताया है कि वह घर के अलावा अगर पानी भरने के लिए बाहर भी जाती है तो उसके पीछे पड़ जाते हैं साँप । इस घटना से वह बहुत डरी हुई है।

एक महीने में डंसा 5 बार

अब तक 5 बार काट चुका है साँप:

संगीता के ससुर ने जब से साँप को मारा है, तब से संगीता का पीछा साँप कर रहे हैं। मौका मिलने पर साँप काटने से भी पीछे नहीं हटते हैं। अब तक संगीता को 5 बार साँपों ने काटा है। हालांकि काटने के तुरंत बाद ही संगीता हॉस्पिटल जाकर इलाज करवा लेती है इसलिए अब तक उसे कुछ हुआ नहीं है। इस समय संगीता के ससुराल वाले उसे कहीं भी अकेले नहीं जाने दे रहे हैं। ऐसा उसकी सुरक्षा को ध्यान में रखकर किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.