स्वास्थ्य

दिन में सोने से होते हैं ये 5 आश्चर्यजनक फायदें, जानिए दोपहर में कितनी देर जरूर सोना चाहिए

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम अपनी सेहत को पीछे छोड़ते जा रहे हैं। आपको पता होगा कि हमें स्वस्थ रहने के लिए प्रर्याप्त नींद की आवश्यकता होती है। लेकिन आजकल ज्यादातर लोग ऑफिस में होने के कारण, पढ़ाई के कारण बहुत तनाव में रहते हैं और पूरी नींद नहीं ले पाते जिसकी वजह से उनको स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। कई लोगों की आदत होती है कि वह दोपहर में सोते हैं, जब दिन में सोने की बात आती है तो काफी लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि क्या दिन में सोना हमारी सेहत के लिए लाभदायक है या नुकसानदायक। हम आपको बता दें कि दिन में सोने के भी बहुत सारे फायदे हैं बशर्ते आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। आइए आपको बताते हैं दोपहर में सोने से कौन कौन से फायदे होते हैं।

दोपहर में सोने से बढ़ती है दिमाग की शक्ति

आपको बता दें कि एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि तो दोपहर में सोने से आपकी दिमाग की शक्ति बढ़ती है। जो लोग दिन में सोते हैं उनकी याददाश्त दूसरों के मुकाबले अच्छी होती हैं। खास कर बच्चों को दिन के समय कम से कम आधे घंटे जरूर सोना चाहिए। जो छात्र लगातार पढ़ाई करके थक जाते हैं उन्हें बीच में एक झपकी जरूर लेनी इससे उनके दिमाग को आराम मिलता है।

ब्लड प्रैशर की समस्या से छुटकारा

आजकल ब्लड प्रैशर एक आम समस्या बन चुकी हैं जिससे बहुत से लोग परेशान हैं। बता दें कि यदि आप दोपहर में कुछ समय सोने के लिए निकालने हैं तो आपके ब्लड प्रैशर की परेशानी भी दूर हो सकती है। दिन में छोटी-छोटी झपकियां सतर्कता और मेमोरी में वृद्धि भी करती हैं।

हार्ट अटैक की सम्भावना होती है कम

जिन लोगों को हार्ट संबंधी समस्याएं है अगर वे दिन में सोते हैं तो आपके हार्ट अटैक की सम्भावना काफी हद तक कम हो होती है। यदि आप हफ्ते में तीन दिन भी कम से कम आधे घंटे की नींद लेते है तो आपको बहुत फायदा मिलता है। अगर आपको बहुत ज्यादा गुस्सा आता है तो दिन में सोने से आप रिलेक्स हो सकते हैं।

पाचन शक्ति में आता है सुधार

बता दें कि दिन में सोने का असर आपके पाचन तंत्र पर भी पड़ता है इससे आपकी पाचन शक्ति मजबूत होती हैं। इसके लिए दोपहर के समय थोड़ी देर आपको अपने सर को अपने बाएं हाथ के ऊपर रख कर सोना चाहिए। इस अवस्था में दोपहर को खाना खाने के बाद सोते है, इससे आपको फायदा मिलता है। इसके अलावा चिड़चिड़े व्यवहार से परेशान व्यक्ति यदि दोपहर को डेढ़़ घंटे की नींद ले तो सकारात्मक बदलाव देखने को मिलता है।

करते हैं अच्छा महसूस

बहुत से लोगों का मानना है कि दिन में सोने से आलस्य आता है लेकिन दिन में कम से कम आधे घंटे की नींद लेने से आलस्य की बजाय आपको आपको फ्रैश फील होता हैं। आपके माइंड और बॉडी में स्ट्रैस हो तो सोने से फ्रैश हो जाएंगे। लेकिन दिन में बहुत ज्यादा देर तक नहीं सोना चाहिए क्योंकि बहुत ज्यादा देर तक सोने से हमने जो बातें बताई हैं इनका विपरीत असर भी पड़ सकता है।

Related Articles

Close