स्वास्थ्य

अगर आप में दिखते हैं ये लक्षण तो हो जाइये सावधान वरना हो जाएंगे डिप्रेशन के शिकार

डिप्रेशन के लक्षण: आजकल काम का प्रेशर ज्यादा हो गया है, जिसकी वजह से लोग डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं। आज हर ज्यादा से ज्यादा लोग इसकी चपेत में हैं, ऐसे में लोगों को काफी दिक्कते होती है, लेकिन अगर आप समय रहते हुए इसके लक्षण को पहचान लेंगे, तो आपको किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होगी, ऐसे में आपको इससे घबराने की जरूरत नहीं है। बस लाइफ में थोड़ा मनोरंजन भी होना चाहिए। तो चलिए आज हम आपको डिप्रेशन के कुछ ऐसे लक्षण बताएंगे, जिसकी पहचान आप आसानी से कर सकते है। यहां एक बात साफ कर दें कि डिप्रेशन किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकता है, ये अमीरी और गरीबी नहीं देखता है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस रिपोर्ट में क्या खास है?

डिप्रेशन का शिकार हंसते हुए लोग भी हो सकते हैं, लेकिन उनकी थोड़ी सी समझ उनको इस समस्या से पूरी तरह से निजात दिला सकती है। बताते चलें कि डिप्रेशन यानि अवसाद का शिकार वहीं व्यक्ति ज्यादा होते हैं, जो अपनी कैपसिटी से ज्यादा काम का प्रेशर लेते  हैं, ऐसे में आपको ज्यादा काम करने की जरूरत नहीं है, काम के दौरान ब्रेक लेना बहुत जरूरी होता है, नहीं तो आप बहुत जल्दी ही डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं।

अवसाद की पहली सीढ़ी तभी से शुरू हो जाती है, जब से हम लाइफ में हर चीज को गलत तरीके से देखने या सोचने लगते हैं यानि नकारात्मक सोच बना लेते हैं, ऐसे में सबसे पहले आपको इस सोच से बाहर आना चाहिए। यहां ये जानना जरूरी है कि अवसाद दो तरह के होते हैं, एक तो कुछ समय के लिए होता है और वहीं दूसरा बहुत ही भंयकर होता है, जिससे उबरने में इंसान को महीनों भी लगते हैं, ऐसे में शुरूआती लक्षण जानकर आपको खुद को इससे बाहर निकालने की कोशिश करनी चाहिए। नहीं तो आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

डिप्रेशन के लक्षण

तो चलिए अब हम आपको डिप्रेशन के कुछ लक्षणों से रूबरू कराते हैं, जिनको जानकर आप सतर्क हो जाएंगे। जी हां, इन लक्षणों में से अगर एक भी लक्षण आपको दिखाई दे, तो फौरन या तो डॉक्टर से संपर्क करें या फिर खुद को इससे उबरने की कोशिश करें। तो चलिए जानते हैं कि इस कड़ी में क्या क्या चीजें शामिल है?

1.नींद की कमी

जी हां, नींद की कमी होना सबसे पहला डिप्रेशन का लक्षण है। ऐसे में अगर आपको नींद नहीं आती है या फिर बीच बीच में नींद खुल जाती है, तो आपको सतर्क रहने की जरूरत है। आपको अपने काम के अलावा अपने आपको बहलाने पर भी ध्यान रखना चाहिए, इसके लिए आपको अपनी पसंद की चीजों को करना चाहिए।

2.काम में मन न लगना

बता दें कि अवसाद से ग्रसित व्यक्ति हर समय परेशान रहता है, ऐसे में अगर आपका भी किसी भी काम में मन नहीं लग रहा है, तो आप भी डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं। हालांकि, कभी कभी काम में मन न लगने की वजह कुछ और भी हो सकता है, लेकिन हर समय ऐसा होना आपको डिप्रेशन की तरफ ही धकेलती है।

3.नकारात्मक से घिरना

अगर आपको लगता है कि आप कुछ नहीं कर सकते हैं, आपकी लाइफ बेकार है या आप जो भी कर रहे हैं वो गलत ही होगा तो ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए, क्योंकि ये आपके लिए खतरे से खाली नहीं हो सकता है।

ऐसे करें डिप्रेशन से बचाव

अगर आपको ऐसे लक्षण दिखे तो आपको सावधान रहने की जरूरत हैं। जी हां, डिप्रेशन से छुटकारा के लिए आपको अपना मन बहलाना चाहिए, ऐसे में आपको गाना फिल्म या फिर जो कुछ भी आपको अच्छा लगता है वो करना चाहिए। बता दें कि सुबह वॉक करना भी सबसे बढ़िया रहता है, ऐसे में रोजाना अगर आप टहलने जाएंगे, तो आप खुद को  डिप्रेशन से बचा सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close