कामदेव के इस मंत्र से आप शादीशुदा ज़िन्दगी में ला सकते हैं गर्माहट, हर समस्या का होगा हल

जीवन में विवाह के महत्व समझते हुए ही सनातन धर्म में इसे एक प्रमुख संस्कार की श्रेणी में रखा गया है। इसके बिना व्यक्ति का जीवन अधूरा माना जाता है और व्यवहारिक रूप से देखा जाए तो ये बात सौ प्रतिशत सच भी है क्योंकि विवाह के बाद आपको वो साथी मिलता है जीवन के हर सुख-दुख में आपका साथ निभाता है.. आपके एकाकी जीवन में खुशियों के रंग भरता है। इसीलिए हमारे यहां (भारत में) उम्र के एक पड़ाव तक पहुंचते-पहुंचते शादी आवश्यक मानी जाती है ताकि व्यक्ति का बाकि जीवन दाम्पत्य के साथ खुशहाल बीतें..

पर कई बार ऐसा होता है कि शादी के बाद भी व्यक्ति को दाम्पत्य जीवन का आनंद नहीं मिल पाता और पूरे रीति रीवाजो के साथ किया गया विवाह भी सफल नही होता । समाज में कई ऐसे में लोग हैं जो देखा जाए तो व्यवहारिक रूप से शादी के बंधन में बंधे हैं पर वास्तव में उन्हें इसका सुख कभी नसीब नहीं होता है अगर आपके साथ भी कुछ ऐसी ही समस्या है तो आज हम आपकी इस समस्या का समाधान लेकर आए हैं । आज हम आपको एक ऐसे मंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके जाप से आपका वैवाहिक जीवन ना सिर्फ खुशहाल हो जाएगा बल्कि वो औरो के लिए एक मिसाल भी बन जाएगा।

दरअसल सनातन धर्म में ऐसी कई मान्यताएं हैं जिनके अनुसार पूजा और आराधना कर धर्म, कर्म, मोक्ष को पा सकते हैं। हिन्दु धर्म में त्रिदेव यानी भगवान विष्णु, भगवान शिव और ब्रह्मा जी के अलावा कई सारे देवता की पूजा का विधान है मान्यता है कि अलग अलग देव की स्तुति से अलग अलग परिणाम प्राप्त होते हैं जैसे आप धन के देव कुबेर की पूजा करेंगे तो आपको धन-धान्य की कभी कमी नही होगी, वर्षा के लिए इंद्र देव की स्तुति की जाती है वैसे ही दाम्पत्य जीवन के लिए काम के देवता ‘कामदेव’ को पूजनीय माना जाता है।

मान्यता है कि कामदेव की पूजा से आपको जीवन में असीम प्रेम की प्राप्ति होती है.. इसलिए इनकी आराधना पति-पत्नी के लिए श्रेष्ठकर मानी गयी है। साथ ही कामदेव की पत्नी रति की स्तुति भी दाम्पत्य जीवन के लिए कल्याणकारी मानी जाती है.. रति श्रृंगार और प्रेम की देवी मानी जाती है ऐसे में मान्यता है की इनकी आराधना से व्यक्ति के जीवन में आकर्षण और प्रेम बना रहता है। इसके साथ ही शास्त्रों में रति की स्तुति के लिए एक विशेष मंत्र का उल्लेख किया गया है जिसके बारे में मान्यता है कि अगर कोई व्यक्ति पूरी निष्ठा से मंत्र का जाप करें तो उसे जीवन में प्रेम और दाम्पत्य का भरपूर सुख मिलता है।चलिए जानते हैं उस मंत्र के बारे में ..

ऊं कं कं ज्ञं ज्ञ: ममवश्य कुरु कुरु स्वाहा” ये है देवी रति का वो विशेष मंत्र जिसके जाप से आपके वैवाहिक जीवन की हर समस्या हल हो जाती है । इस मंत्र का आपको 108 बार जाप करना है वो भी 21 दिनों तक लगातार.. ऐसा करने से आपका वैवाहिक जीवन इतना सुंदर और आदर्श बन जाएगा जिसकी कल्पना आपने सिर्फ सपनों में की होगी। तो देर किस बात की अगर आपकी शादी हो चुकी है या फिर होने वाली है तो अपने वैवाहिक जीवन में खुशियों के रंग भरने के लिए इस मंत्र का जाप आप भी अवश्य करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.