ब्रेकिंग न्यूज़

बड़ी ख़बर: 12 वर्षीय मासूम बच्ची का होगा गर्भपात, बच्ची का कहना है- अंकल आकर करते थे गंदे काम…

भोपाल: भोपाल में दिनों दिन क्राइम बढ़ता जा रहा है. आये दिन कोई ना कोई इंसान हादसों का शिकार हो रहा है. अब लोगों में हैवानियत इतनी बढ़ चुकी है कि वह बच्चे या बूढ़े किसी को भी नहीं बक्शते. अभी कुछ दिन पहले ही भोपाल के रेलवे स्टेशन से सलमान नामक एक युवक को गिरफ्तार किया गया है. जानकारी के अनुसार इस युवक ने एक मासूम बच्ची का बलात्कार करके उसको प्रेगनेंट कर दिया था. आपको इस बात की हैरानी होगी कि जिस बच्ची के साथ ये हादसा हुआ है वह केवल 12 साल की ही है. अभी वह 4 महीने की प्रेगनेंट है. पुलिस के अनुसार बच्ची पिछले कुछ दिनों से काफी कमजोर लग रही है और उसमे खून की भी कमी हो गयी है. चाइल्ड वेलफेयर कमेटी ने अब फैसला लिया है कि बच्ची का अबॉर्शन किया जायेगा. उनके अनुसार बच्ची शरीर की काफी कमज़ोर है और फिलहाल उसके माँ बाप की भी किसी को कोई ख़बर नहीं मिल पा रही. ऐसे में इस मासूम बच्ची का माँ बनना उसके लिए और उसके होने वाले बच्चे के लिए खतरनाक सिद्ध हो सकता है. चलिए जानते हैं बच्ची की इस हालत का ज़िम्मेदार आखिर कौन है…

पांच दिन से हर पल मर मरकर जी रही थी

जानकारी के अनुसार पिछले पांच दिनों से इस 12 साल की बच्ची की हालत बेहद नाज़ुक है. पुलिस ने बताया कि इस बच्ची का बलात्कार सलमान समेत तीन और लोगो ने किया था. एक बयांन में सलमान ने बताया कि वह  स्टेशन पर भीख मांगता है. जबकि, लोगो का कहना है कि सलमान किसी होटल में काम करता है. फ़िलहाल पुलिस ने काफी छानबीन के बाद सलमान को गिरफ्तार कर लिया है और बाकी तीनो लोगो का अभी पुलिस पता लगा रही है. मीडिया को मिली जानकारी के अनुसार अब पुलिस बाकी मुजरिमों की पहचान के लिए उस बच्ची को 500 मुजरिमों की तस्वीर दिखाएगी. काउसिंलिंग के दौरान बच्ची ने खुद बताया था कि उसकी हालत के ज़िम्मेदार चार लोग थे. उस मासूम बच्ची ने उन चरों का हुलिया भी थोडा बहुत पुलिस को बताया था. इसलिए अब जीआरपीची को तस्वीर और cctv की फुटेज दिखाएगी.

खंडरों में ले जाते थे अंकल…

अभी बच्ची की हालत काफी नाज़ुक है जिस कारण हस्पताल कर्मचारी पुलिस को बच्ची से मिलने से रोक रहे हैं. डॉक्टर्स का कहना है कि बच्ची फिलहाल स्ट्रेस से दूर रखना चहिये वरना उसके लिए जानलेवा साबित हो सकता है. पुलिस के अनुसार उन्हें शक है कि स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 6 के पास कुछ खंडर थे, इसलिए हो सकता है मुजरिम बच्ची को वहीँ ले गये हों. इसके इलावा बच्ची ने इससे पहले दीये गये ब्यान में खुद कहा था कि- “मुझे वो चारों अंकल उस अँधेरे खंडर में लेजाया करते थे और वहां मेरे साथ गन्दा काम करते थे”. जीआरपी को मिली जानकारी के अनुसार उस बच्ची के घर में पांच मेम्बर थे. जिनमे से एक भाई पहले से गुमशुदा था. बच्ची के पिता स्टेशन पर ही चादर बिछा कर भीख माँगा करते थे. पुलिस ने लड़की की फोटो स्टेशन पर रहने वाले लोगो को दिखाई. उनमे से एक शक्स ने उसे अपनी बहन बताया है.

परिवार की हो रही है पूछताछ

फिलहाल पुलिस बच्ची के परिवार के मेम्बर्स को ढूँढने में लगी हुई है. चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के मेंबर डॉ. मोहन शर्मा ने बताया कि बच्ची द्वारा बताए गए पते पर फैमिली मेंबर नहीं मिले तो दोबारा काउंसिलिंग कर सही जानकारी ली जाएगी. इसके इलावा चाइल्ड वेलफेयर टीम की गौरवी ने बताया कि बच्ची काफी डरी हुई है और उसको जीआरपी टीम बिना बताये उठा कर ले गयी है. जीआरपी का कहना है कि जब तक बच्ची के माँ बाप नहीं मिल जाते, तब तक वह पूरी सुरक्षा में रहेगी. फ़िलहाल पुलिस बाकि तीन मुजरिमों की तलाश कर रही है और बच्ची को उन्होंने अपने पास हिफाज़त में रख लिया है.

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button
Close