विशेष

अपने जन्मदिन पर एक साल के बच्चे ने पिता को दी मुखाग्नि, मामला जानकर अपने आंसू नहीं रोक पाएंगे आप!

मुंबई: एक बाप अपने परिवार से वादा करता है कि वह अपने बच्चे के पहले जन्मदिन पर जरूर घर आएगा। बच्चे के जन्मदिन के दिन वह नहीं बल्कि तिरंगे में लिपटी हुई उसकी लाश आती है। यह किसी फिल्म की कहानी लगती है। लेकिन ऐसा नहीं है यह एक सच्ची घटना है। सेना के जवान संदीप जाधव ने अपने मासूम बेटे और परिवार से यह वादा किया था कि वह बच्चे के जन्मदिन पर घर आएगा।sahid jawan sandeep yadav.

आज है जाधव के बेटे का जन्मदिन:

लेकिन ईश्वर के फैसले को कौन बदल सकता है। किसे पता था कि बेटे के जन्मदिन पर तोहफा लेकर आने वाले पिता देश की सेवा करते हुए शहीद हो जायेंगे और उन्हें तिरंगे में लपेटकर लाया जायेगा। आज जाधव के बेटे का पहला जन्मदिन है। केवल यही नहीं एक साल के मासूम बच्चे को कुछ पता भी नहीं होता, जबकि जाधव के एक साल के बच्चे ने उनकी चिता को मुखाग्नि दी।

सैनिकों ने पार्थिव शरीर को सम्मान के साथ दी सलामी:

शहीद संदीप जाधव के पार्थिव शरीर को शुक्रवार की रात लगभग 10 प्लेन से औरंगाबाद एयरपोर्ट ले जाया गया। जाधव के पार्थिव शरीर को देखते ही पूरा परिवार लिपटकर रोने लगा। सैनिकों ने संदीप जाधव के पार्थिव शरीर को सम्मान के साथ सलामी दी। आपको बता दें कि संदीप जाधव की अंतिम विदाई में भारत माता की जय के नारे भी लगाए गए। जाधव के गांव के सभी लोग काफी दुखी हैं।

पाकिस्तान के विशेष दल के हमले में शहीद हुए जाधव:

संदीप 15वीं मराठा लाइट इन्फेंटरी के जवान थे। उनकी उम्र मात्र 34 साल थी। जम्मू के पूंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान द्वारा किये गए हमले में संदीप जाधव शहीद हो गए। जब जाधव के पिता को बेटे के शहीद होने की खबर मिली तो उन्होंने घर में किसी को टीवी भी नहीं चलाने दिया। उन्होंने ऐसा इसलिए किया कि संदीप के बेटे का जन्मदिन मनाने के लये पूरे घर में जोरों से तैयारियां चल रही थी।

संदीप के मौत की खबर सुनकर पूरे परिवार में गम का माहौल छा जाता। संदीप के गांव के ही एक व्यक्ति ने बताया कि संदीप ने बेटे के जन्मदिन पर आने का वादा किया था। संदीप के पिता ने अपने रिश्तेदारों को भी यह कह दिया था कि संदीप की पत्नी और उनकी बेटी को उनके शहीद होने की सूचना ना दें। लेकिन बाद में अंतिम संस्कार के लिए की जाने वाली तैयारी के लिए परिवार को बताना ही पड़ा।

***

Related Articles

Close