समाचार

दुखद: RLD चीफ और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह ने 82 वर्ष की उम्र में ली अंतिम सांस

कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस दूसरी लहर में कई लोगों ने अपनों को खोया है। इस दौरान कई बड़ी हस्तियां भी दुनिया को अलविदा कह गई। हमे बड़े दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के चीफ और पूर्व केंद्रीय मंत्री अजित सिंह का आज सुबह 6 बजे कोरोना के चलते निधन हो गया। वे 82 वर्ष के थे। 20 अप्रैल को उन्हे कोरोना हुआ था।

मंगलवार को उनकी तबीयत अधिक बिगड़ गई थी। इसके चलते उन्हें गुरुग्राम के एक हॉस्पिटल में एडमिट किया गया था। हालांकि आज सुबह करीब छह बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन की खबर बेटे जयंत चौधरी ने ट्वीट के माध्यम से दी।

उन्होंने अपनी ट्वीट में लिखा – चौधरी अजित सिंह जी 20 अप्रैल को कोरोना संक्रमित पाए गए थे और आज प्रातः 6 मई को उन्होंनेन अंतिम सांस ली। असीम दुख की घड़ी है। अंतिम समय तक चौधरी साहब संघर्ष करते रहे। जीवन पाठ पर चलते हुए चौधरी साहब को बहुत लोगों का साथ मिला। ये रिश्ते चौधरी साहब के लिए हमेशा प्रिय थे। चौधरी साहब ने आप सबको अपना परिवार माना और आप ही के लिए हमेशा चिंता की।

उन्होंने आगे ट्वीट में लिखा – आज इस दुख व महामारी के काल में हमारी आप से प्रार्थना है कि अपना पूरा द्यान रखें, संभव हो तो अपने घर पर रहें और सावधानी जरूर बरतें। इससे देश की सेवा कर रह डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मचारियों को भी मदद मिलेगी और ये चौधरी सहाब को आपकी सच्ची श्रद्धांजलि होगी।


प्रधानमंत्री मोदी ने भी अजित सिंह के निधन पर दुख व्यक्ति करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा – पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है. वे हमेशा किसानों के हित में समर्पित रहे. उन्होंने केंद्र में कई विभागों की जिम्मेदारियों का कुशलतापूर्वक निर्वहन किया. शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं. ओम शांति!


बताते चलें कि अजित सिंह पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के बेटे थे। 1986 में उन्होंने राजनीति में कदम रखा था। 1986 में वह राज्यसभा गए थे। 1987 से 1988 तक वे लोकदल (ए) और जनता पार्टी के अध्यक्ष पद पर रहे। 1989 में उन्होंने अपनी पार्टी को जनता दल में विलय कर लिया। वे 6 बार लोकसभा और एक बार राज्यसभा सांसद रह चुके हैं। इसके अतिरिक्त वे 4 प्रधानमंत्रियो की कैबिनेट में मंत्री रह चुके हैं।

Back to top button
?>