ब्रेकिंग न्यूज़

दूसरी शादी को लेकर उत्साहित था सिपाही, सुहागरात मनाने गया तो दुल्हन निकली किन्नर

राजेश (परिवर्तित नाम) अपनी पहली पत्नी के निधन के बाद दुखी था। उसके दो छोटे छोटे बच्चे हैं। उनकी देखरेख के लिए वह दूसरी शादी करना चाहता था। ऐसे में उसकी पहली पत्नी के पिता यानि उसके ससुर ने ही उसका रिश्ता रेश्मा (परिवर्तित नाम) की लड़की के साथ कर दिया। शादी अच्छे से हो गई, राजेश अच्छे से खुशी खुशी सुहागरात की तैयारी करने लगा। लेकिन सुहागरात पर उसे पता चला कि जिस लड़की से उसके ससुर ने दूसरी शादी कराई है वह एक किन्नर है। यह सच्चाई जान राजेश के होश उड़ गए।

दरअसल यह पूरा मामला मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर का है। यहां कोरोना की वजह से मार्च 2020 से ही कुटुंब न्यायालय में सुनवाई बंद हो गई थी, लेकिन फिर नवंबर 2020 से सीमित केसों की सुनवाई शुरू हुई। हालांकि इस दौरान भी हर केस को नहीं सुना जा रहा था। अब बीते दिनों ही कुटुंब न्यायालय में भौतिक सुनवाई शुरू की गई। इसके साथ ही मीडिएशन व काउंसिलिंग भी स्टार्ट हो गई। ऐसे में कोर्ट के खुलते ही पुलिस आरक्षक (परिवर्तित नाम) ने भी सुनवाई का आवेदन दिया।

सात महीने पहले राजेश का विवाह उसके ससुर ने एक किन्नर से करवा दिया था। तब से ही वह अपने विवाह को शून्य कराना चाहता था। हालांकि कोरोना में कोर्ट के बंद होने की वजह से ऐसा नहीं हो सका। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अधिनियम की धारा 11-12 के अंतर्गत शादी को शून्य किया जा सकता है। इसके लिए शर्त ये है कि यदि आपका विवाह किसी किन्नर से, शादी के पहले से गर्भवती लड़की से या एक ही गोत्र में होता है तो आप अपना विवाह शून्य कर सकते हैं।

एक बार आपका विवाह शून्य हो जाता है तो पति की संपत्ति पर सामने वाले पक्ष का कोई हक नहीं होता है। इस तरह से हुए विवाह को धोखे से हुए विवाह की श्रेणी में रखा जाता है। ऐसी शादी को कोई भी कानूनी मान्यता नहीं होती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसके पहले भी किन्नर से हुए विवाह को शून्य किया गया है। किन्नर के साथ हुई शादी को कानूनी मान्यता नहीं प्राप्त होती है।

शादी के पहले इस तरह की बातें छिपाना और धोखे से किसी की शादी करवा देना सरासर गलत होता है। आपकी स्थिति कुछ भी हो लेकिन शादी से पहले सामने वाली पार्टी को सब सच सच बता देना चाहिए। फिर यह उसकी मर्जी है कि वह आपसे विवाह करना चाहता है या नहीं।

Back to top button