उत्तरी सीरिया में मस्जिद पर हवाई हमला, 42 लोगों की मौत, हमले के वक्त नमाज पढ़ रहे थे लोग

सीरया और इराक से पनपा आतंकवाद अब और भी ज्यादा क्रूर रूप लेता जा रहा है. आलम यह है कि अब आतंकवादी यह भी नहीं देख रहे कि वो किसे मार रहे हैं और किस जगह पर मार रहे हैं. एक ताजा खबर के अनुसार उत्तरी सीरिया में एक मस्जिद पर हवाई हमला हुआ जिसमें अभी तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है. बताया जा रहा है कि यह हमला शाम के वक्त हुआ जब लोग नमाज अदा कर रहे थे. आतंकियों ने इबादत कर रहे मासूम लोगों को निशाना बनाया.

लोग बड़ी संख्या में मलबे में फंसे हैं और बचाव कार्य जारी है :

यह हमला अलेप्‍पो प्रान्त के नजदीक हुआ. सीरिया में आकाश से जुड़े मामलों पर नजर रखने वाली ऑब्‍जरवेटरी के प्रमुख रमी अब्‍देल रहमान ने इस बारे में अधिक जानकारी दी. उन्होंने कहा कि यह हमला अल जिनेह नाम के गांव की एक मस्जिद में हुआ है. हालांकि अभी भी लोग बड़ी संख्या में मलबे में फंसे हैं और बचाव कार्य जारी है. राहत और बचाव कार्य के लिए रेस्क्यू टीम वहां मौके पर पहुंच चुकी है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक अलेप्पो से घटना स्थल की दूरी करीब 30 किलोमीटर की है और जिस गांव पर यह हमला हुआ है उसपर आइएस का कब्जा है. इस गांव पर सरकार विरोधी गतिविधियों में शामिल लोगों का कब्जा है. लेकिन फिलहाल यहां ऐसी गतिविधियां नहीं चल रही थीं जिससे सरकार को समस्या होती.

गौरतलब है कि मामले में हमलावरों से जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिल सकी है. अभी तक यह नहीं पता चल सका है कि इस तरह का हवाई हमला किसने और क्यों किया. असमान से जुड़े मामलों पर नजर रखने वाली ऑब्‍जरवेटरी का कहना है कि अलेप्पो शहर के आसपास अक्सर बम गिराने वाले लड़ाकू विमान उड़ते रहते हैं. इस क्षेत्र में रूस, अमेरिका और सीरिया के लड़ाकू विमान अक्सर आते हैं और बमबारी भी किया करते हैं. एक रिपोर्ट से ज्ञात आंकड़ों के मुताबिक बीते 6 साल में इस लड़ाई में करीब 3 लाख 20 हजार लोग हवाई हमलों के कारण अपनी जान गवां चुके है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.