इस पौधे की जड़ के चमत्कारी टोटके से धनवान बनने से कोई नहीं रोक सकता, और भी मिलते हैं लाभ कोर्ट कचहरी के मामलों में विजय हेतु आर्द्रा नक्षत्र में आक की जड़ लाकर तावीज की तरह गले में बांधें, इससे बहुत ही लाभ मिलता है

प्राचीन समय से ही तांत्रिक क्रियाओं का बहुत सी जगहों पर इस्तेमाल किया जाता है जहाँ पर वो चीजें आपको आसानी से उपलब्ध नहीं हो पाती हैं। बता दें की तांत्रिक क्रियान और टोने-टोटके आदि का इस्तेमाल किसी को वश में करने के लिए या किसी को गंभीर बीमारी से निजात दिलवाने के लिए, पति को किसी दूसरी स्त्री के चंगुल से छुड़ाना हो या किसी को बड़ी समस्या से छुटकारा दिलवाना हो ऐसी तमाम बातों के लिए इस्तेमाल किया जाता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसी ही एक चमत्कारी पौधे की जड़ के बारे में जिसका टोटका कर लेने से आपको धनवान बनने से कोई भी नही रोक सकता है। तो चलिए जानते हैं इस खास पौधे की जड़ के बारे में साथ ही इसके असरदार टोटके भी।

 

शास्त्रों के अनुसार पौधों के कई धार्मिक और ज्योतिषीय महत्व भी बताए गए हैं और इसी तरह का एक चमत्कारी पौधा है आक का पौधा, इस पौधे के कई प्रकार उपाय बताए गए हैं। बताते चलें के आक से कई तरह के चमत्कारिक लाभ प्राप्त किया जा सकता है जो हमारे घर या घर के आसपास ही आसानी से देखने को मिल जाया करता है, सामान्यत: जंगलों में आसानी से पनप जाता है लेकिन आजकल शहरों में यह आसानी से दिखाई दे जाता है। वैसे तो माना जाता है की यह एक विषैला पौधा है मगर इसके कई सरे फायदे भी है।

आपको यह भी बता दें की आक के इस चमत्कारी पौधे को हम सभी आम भाषा में मदर के नाम से भी जानते हैं, तो चलिए जानते हैं इसके कुछ फायदे।

सबसे पहले तो आपको बताते चलें की यदि आपकी आंख में रह रह कर दर्द होटा है तो ऐसी स्थिति में आप अपने दूसरे पैर के अंगूठे पर श्वेत यानि सफेद आक को दूध से पूरी तरह गीला करके कुछ देर रख लीजिये, इससे आपको काफी राहत मिलती है।

बता दें की इसके इलावा अगर आप आक के पौधे को अपने घर के द्वार पर लगा देंगे, तो आपके घर पर किसी भी बुरी शक्ति का वास नहीं होगा साथ ही साथ ही आपके घर पर किसी टोने टोटके का असर नहीं होगा और आपका घर हमेशा सुरक्षित रहेगा।

आपको बताते चलें की आक पौधे की जड़ का टोटका यदि आप कर लेते हैं तो इससे आपके घर की आर्थिक स्थिति भी बेहद मजबूत हो जाती है।

बता दें की इस पौधे की जड़ का इस्तेमाल करने से पहले कुछ बातों का आपको बहुत ही विशेष ध्यान रखना होता है जैसे की जब आप ये जड़ी बूटी लेकर आये, तो पीछे पलट कर न देखे। मन जाता है कि ब्रह्म मुहूर्त मे किसी भी जड़ी बूटी को लाने का सबसे अच्छा मुहूर्त होता है। इसके अलावा अगर किसी भी तरह से इस जड़ी बूटियों को रवि पुष्य योग, गुरु पुष्य योग या शनि पुष्य योग में प्राप्त किया जाए तो ये काफी ज्यादा फायेदमंद होता है।

बताते चलें की कोर्ट कचहरी के मामलों में विजय हेतु आर्द्रा नक्षत्र में आक की जड़ लाकर तावीज की तरह गले में बांधें, इससे बहुत ही लाभ मिलता है।