क्या आपको पता है कि रिलीज से पहले ही कैसे लीक हो जाती हैं फिल्में

न्यूज़ट्रेंड एंटरटेनमेंट डास्क: जब भी फिल्मों की बात होती है सारा श्रेय फिल्म के लीड रोल और उसके डायरेक्टर को मिलता है लेकिन इसके अलावा भी फिल्म में ना जाने कितने लोगों की मेहनत लगी होती है। एक फिल्म को सफल बनाने में ना सिर्फ एक्टर्स बल्कि डायरेक्टर से लेकर के फिल्म को बनाने में लगे पूरे क्रू की दिन रात की मेहनत लगी होती है। पहले तो फिल्म को बनाने में मेहनत होती है उसके बाद उसको जाना पड़ता है सेंसर बोर्ड, जहां पर काफी मशक्कत के बाद फिल्म को काट-छाटकर दर्शकों के सामने पेश किया जाता है। लेकिन दुख तब होता है जिसके लिए इतनी मेहनत की जाती है और बड़े पर्दे पर आने से पहले या आने के कुछ ही समय बाद फिल्म ऑनलाइन लीक हो जाती है।

फिल्म के लीक होने पर ना सिर्फ फिल्म की कमाई पर असर पड़ता है बल्कि इसके साथ ही फिल्म में काम करने वाले लोगों को भी काफी तकलीफ होती है, क्योंकि उनकी मेहनत को किसी की बेइमानी ने खराब कर दिया और पूरी मेहनत को पानी में मिला दिया। फिल्में लीक होती हैं। हालांकि फिल्मों की पाइरेसी को लेकर के इन दिनों काफी कड़े नियम बन गए हैं, जिसके चलते अब सिनेमा हाल में कैमरा ले जाना मना हो गया है और साथ ही मोबाइल फोन से फिल्म को रिकार्ड करना भी नहीं होता है, इन नियमों के चलते काफी हद तक फिल्मों की पायरेसी को रोका गया है।

लेकिन कभी आपने ये सोचा है कि फिल्म के रिलीज होने से पहले ही फिल्म लीक कैसे हो जाती है, क्योंकि जब फिल्म थिएटर में रिलीज ही नहीं हुई तो उसको रिकार्ड करके लीक करने का सवाल ही पैदा नहीं होता है। अब आपके मन में ये सवाल कुलबुला रहा होगा, तो ज्यादा परेशान ना हों हम आपको बताते हैं कि फिल्म के रिलीज होने के पहले ही वो किस तरह से और किन वजहों से लीक हो जाती है।

हमने आपको बताया कि पुराने समय में लोग किस तरह से फिल्मों को रिर्चाज करके लीक करते थे, लेकिन अब बात करें फिल्मों की तो आज के समय में सभी फिल्में डिजीटल फॉर्म में तैयार होती है और रिलीज के बाद सीधे सैटेलाइट के जरिए थिएटर में पहुंचाई जाती हैं। इस बीच इसे कॉपी करना साइबर क्राइम एक्सपर्ट्स की जानकारी के मुताबिक मुमकिन नहीं है।

हैकिंग से लीक होती हैं फिल्में

साइबर एक्सपर्ट्स की मानें, तो ज्यादातर हैकर रूस, पाकिस्तान और उज्बेकिस्तान के ऑनलाइन सर्वर यूज करते हैं। जहां से वो फिल्म को हैक के जरिए चुराते हैं और फिर इन अन्य सर्वरों से टोरेंट पर सर्कुलेट कर देते हैं। इन सर्वरों को इंडियन साइबर सेल ब्लॉक कर सकती है, लेकिन सिर्फ हाई कोर्ट के आदेश के बाद, औक जब तक यह कार्रवाई पूरी होती है तब तक और कई सर्वर उसे कॉपी कर लेते हैं और टोरेंट पर लीक कर देते हैं।

फिल्म के ही कुछ लोग करते हैं लीक

फिल्मों को बनाने में हजारों लोग लगते हैं और जिस तरह से फिल्म की शूटिंग के कुछ सींस लीक होते हैं उसी तरह से ही फिल्म में काम करने वाले लोग फिल्म को भी लीक कर देते हैं, बता दें इसीलिए फिल्मों के सेट पर अब मोबाइल फोन को बैन कर दिया है, फिल्म के सेट के जिस हिस्से पर शूटिंग चल रही होती है वहां पर कोई भी मोबाइल लेकर नहीं जा सकता है।

प्रमोशन के दौरान लीक होती हैं फिल्में

फिल्म को रिलीज से पहले प्रमोट करने के लिए कई जगहों पर फिल्म कॉपी को कई जगहों पर भेजा जाता है जहां से भी फिल्म के लीक होने का खतरा होता है।

मीडिया में मचा बवाल, सुपरहिट फिल्में बनाने वाले इस डायरेक्टर की पत्नी मांजती है घरों में बर्तन

ना हीरो, ना हीरोईन, ना कोई लीड रोल तब भी फिल्मों में छा गए ये किरदार